बाबरी मस्जिद विवाद पर डॉक्टर रामविलास वेदांती ने कहा कि श्री श्री रविशंकर एनजीओ चलाते हैं और उसके लिए विदेशों से चंदा लेते हैं। उसने आरोप लगाया कि श्री श्री अपने ब्रांड को बेचने के लिए यह सब कर रहे हैं। श्री वेदांती ने कहा कि अयोध्या के लिए जेल हम गए, लाठी हमने खाई, मामले में कूद वह गए।

इतना ही नहीं AIMIM के अधयक्ष असदुद्दीन ओवेसी ने कहा कि बाबरी मस्जिद के मामले को मजाक बना दिया है। उन्होंने कहा कि श्री श्री मामले को लेकर घूमते रहें कुछ नहीं होने वाला, मुझे समझ नहीं आया कि उसने वहां जाकर किनसे बात की।

उन्होंने कहा कि इस मामले में श्री श्री की दखलंदाजी ठीक नहीं है। मिस्टर नरेंद्र गिरि ने कहा कि श्री श्री को अपनी गैर सरकारी संगठन चलाने पर ध्यान देना चाहिए। कांग्रेस के यूपी अध्यक्ष राज बब्बर ने तो कहा कि श्री श्री कश्मीर, और आईएसआईएस के पास भी अनुबंध के लिए जा चुके हैं, लेकिन क्या हुआ।

श्री श्री को क़रीबियों ने कहा कि उनके दिल में नोबेल पुरुस्कार हासिल करने की ख्वाहिश यह बात उस समय उजागर हुई हब श्री श्री रवि शंकर ने पाकिस्तान छात्रा मलाला युसुफजई को शांति का नॉबेल पुरुस्कार दिए जाने पर एतराज़ जताया था। उन्होंने कहा कि मलाल ने ऐसा कुछ भी नहीं किया है जिसके लिए उन्हें शांति का नोबेल पुरुस्कार दिया जाए।