अभी हाल ही में एक खबर आई थी की जीएसटी के नाम पर बड़े बड़े होटल्स ठगने का काम कर रहे है. वहीँ अब खबर आ रही जीएसटी काउंसिल द्वारा करीब 200 चीजों की दरों में बदलाव और कटौती की गई थी जिसके बाद ये सब चीजें और सेवाएं सस्ती हो जाएंगी. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. कई चीजों और सेवाओं के दाम बढ़ा दिए गए यानि ग्राहक का बिल जस का तस है.

वहीँ ऐसे में अब सरकार ने कड़ा रुख अपनाते हुए नेशनल एंटी प्रॉफिटिंग अथॉरिटी बनाने का ऐलान किया है. सरकार ने घोषणा की कि वो जीएसटी के तहत नेशनल एंटी प्रॉफिटिंग अथॉरिटी बनाएगी ताकि टैक्स में जो कटौती की गई है, उसका फायदा लोगों तक मिल सके. रेस्टोरेंट सहित करीब पौने दो सौ सामान और सेवाओं पर जीएसटी घटाया गया है.

हालाँकि गुरुवार को सरकार ने जीएसटी कम करके 5 फीसदी कर दिया. आनंदाज रेस्‍टोरेंट के मालिक आनंद गुप्ता का कहना है कि सरकार ने पांच फीसदी इनपुट टैक्स क्रेडिट को खत्म कर दिया है. इसका असर आने वाले वक्त रेस्टोरेंट में खाने की कीमत पर भी पड़ सकता है. बीजेपी के नेता किरीट सोमैया ने सरकार को पत्र लिखकर शिकायत की है.

लेकिन रेस्टोरेंट एसोसिएशन इस बात को नकार रहा है. दिल्ली होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के प्रेसिडेंट संदीप खंडेलवाल का कहना है कि घरेलू उपयोग के 178 सामानों पर भी जीएसटी घटा है, लेकिन इसका फायदा आम लोगों को मिलने में कुछ वक्त लगेगा. दुकानदारों का कहना है कि पुराने माल पर कंपनी से जब बिलिंग पुरानी हुई है तो कम करके वो कैसे दे सकते हैं.