हाल ही में सोशल मीडिया पर एक बड़ी खबर सामने आ रही है केरल के स्वामी गणेशनंदा पर एक युवती ने हमला किया था और आरोप है कि उसने उनका लिंग काट दिया था। बुधवार (28 मार्च) को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि अब वह एक सामान्य व्यक्ति जैसे हैं। गणेशनंदा जो श्रीहरी के नाम से भी जाने जाते हैं ने कहा कि वह आठ महीने तक तीसरे जेंडर का इंसान रहने के बाद अब स्वस्थ हो गये हैं।

इतना ही नहीं पिछले साल 19 मई को एक 23 साल की एक लड़की ने स्वामी पर बलात्कर का आरोप लगाया था और उनके लिंग काट दिये थे। एक रिपोर्ट के मुताबिक स्वामी गणेश नंदा ने कहा कि दिसंबर 2017 के बाद उनपर किये जा रहे इलाज और सर्जरी का असर हुआ है। उन्होंने कहा मुझे तिरुवनंतपुरम मेडिकल कॉलेज ले जाया गया.

आपको बतादें जहां डॉक्टरों ने लिंग के कटे हुए भाग पर टांका लगाया, इसके बाद दो सर्जरी की गई. विजयन ने कहा कि अब वह आराम से पेशाब कर सकते हैं और उनका लिंग सामान्य काम करेगा। स्वामी गणेशनंदा ने कहा कि जिन लोगों ने मुझ पर हमला किया सबको मैंने माफ कर दिया है, मुझे कोई शिकायत नहीं है।

स्वामी गणेशनंदा के मुताबिक जब मेडिकल कॉलेज में वह भर्ती हुए थे तो उनपर सवालों की बौछार कर दी गई थी। उन्होंने कहा कि लोगों के संदेश को दूर करने में और सवालों का जवाब देने में वक्त लग जाएगा, लेकिन मैं अपना काम जल्द शुरू करना चाहता था। उन्होंने कहा कि वह उस दौरान बेहद दुख से गुजर रहे थे।