हाल ही में सोशल मीडिया पर एक बड़ी खबर सामने आ रही है जिसमे आपको बतादें कि सोनभद्र जिले के दुद्धी कोतवाली क्षेत्र स्थित सांसद आदर्श गांव नगवां में एक युवक ने अपनी सौतेली मां को पहले लाठी-डंडे से पीट कर अधमरा कर दिया। उसके बाद कनहर नदी तट पर पेट्रोल छिड़ककर जिन्दा जला दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद युवक ने कोतवाली पहुंचकर सरेंडर कर दिया।

इतना ही नहीं इसी के साथ ही प्रभारी निरीक्षक को पूरा घटनाक्रम भी बताया। मृतका के भाई की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया। अधजले शव को पीएम के लिए भेज दिया गया। नगवां गांव का निवासी पेशे से किसान रामविशुन ने अपनी पहली पत्नी कौशल्या देवी व 6 बच्चों बृजेश कुमार 22, राजेश कुमार 19 वर्ष, संत कुमार 16 , बुलन्द कुमार 14,सरिता 24 वर्ष और विनीता 13 के रहते गांव में ही रह रही एक महिला देवकुमारी उम्र 37 वर्ष से मंदिर में पिछले साल शादी कर ली।

अक्सर अपने बच्चों से आधी संपत्ति अपनी दूसरी बीबी देवकुमारी को देने का ताना मरते थे। घर के बच्चे अक्सर अपने पिता से दूसरी पत्नी को छोड़ने की बात कहते थे, लेकिन वह नहीं सुनता था। इस बात को लेकर कई बार गांव में पंचायत भी हुई थी। आये दिन पिता की मनमर्जी और घर में आकर झगड़ने और तंग करने से आजिज आकर रामविशुन के मझले पुत्र राजेश कुमार ने सारे फसाद की जड़ अपनी सौतेली मां देवकुमारी मंगलवार की रात लगभग आठ बजे गांव में ही अकेला पाकर पहले लाठी-डंडे से पीटा।

दुद्धी कोतवाली पहुंच कर पूरे घटनाक्रम के बारे में प्रभारी निरीक्षक विनोद यादव को बताया। प्रभारी निरीक्षक के अनुसार राजेश ने जब अपनी सौतेली मां को पीटकर जिंदा ही फूंक देने की बात स्वीकारी तो उसी समय उसके बताए स्थान पर पुलिस टीम भेजी गई। वहां महिला का अधजला शव मिला। उसे पीएम के लिए भेज दिया गया।