राजस्थान के अलवर में कथित गौरक्षा के नाम पर गौरक्षकों के हाथों मारे गए अकबर की हत्या के मामले में राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि यह ‘कोई सिर्फ राजस्थान में ही नहीं हो रही है।’

एक हिंदी टीवी चैनल को दिए अपने इंटरव्यू में उन्होंने कहा, यह राजस्थान की सच्चाई नहीं है, यह दुनिया की सच्चाई है. यह दुनियाभर में हो रहा है, यह सिर्फ राजस्थान में नहीं हो रहा है। उन्होने कहा, राजस्थान के दूरगामी क्षेत्र में रात में 12 बजे ऐसी कोई घटना हो जाती है, तो वास्तव में उस समय जो हो रहा है, उसे जानने के लिए मुझे भगवान से भी बड़ा होना होगा।” उन्होंने कहा कि मुद्दा ये है कि सरकार कैसे प्रतिक्रिया देती है और सरकार क्या करती है।

वसुंधरा ने कहा, ‘हम अगर तत्काल कार्रवाई करते हैं और अगर हम जरूरी कार्रवाई करते हैं तो इसे चेतावनी माना जानी चाहिए।’ उन्होंने कहा, ‘अगर आप लोगों को निलंबित (लापरवाही के लिए) कर रहे हैं, अगर आप उनसे पूछताछ कर रहे हैं, तो इन बातों से जनता के जीवन पर प्रभाव पड़ेगा।’

इतना ही नहीं सीएम राजे ने लिंचिंग के पीछे की वजह लोगों के पास रोजगार न होना बताया, उन्होंने कहा कि लोगों को मदद न मिलने पर उनका गुस्सा लिंचिंग के रूप में निकल रहा है।

वसुंधरा राजे ने कहा, ‘ये समस्या जनसंख्या विस्फोट से उत्पन्न हुई है। लोगों को रोजगार चाहिए। वे इस बात से निराश हैं कि वो रोजगार के लिए काबिल नहीं बन पा रहे हैं। एक निराशा का भाव है जो लोगों और समुदायों में फैल रहा है। यह ऐसा कुछ नहीं है जो राज्य से आ रहा है। ऐसा लोगों की स्थितियों के कारण उनके गुस्से के तौर पर बाहर आ रहा है।’