हमारे देश में पुलिसकर्मियों को कभी भी उनके काम की सराहना नहीं मिल पाती है। हमेशा आलोचना झेलने वाले पुलिसकर्मी ऐसे-ऐसे काम को अंजाम दे जाते है। जिससे उनको सलाम करने का दिल करता है। ऐसा ही कुछ काम इंदोर की महिला एसआई अनिला पाराशर ने किया है।

दरअसल, गुरुवार को इंदौर-महू रोड पर डिसेंट कॉलोनी के समीप कचरे के ढेर में उन्हे दो दिन की नवजात बालिका के बारे में जानकारी मिली। सूचना मिलते ही वह वहां पहुंची। इस दौरान स्थानीय लोगो में से बच्ची को कोई हाथ लगाने के लिए तैयार नहीं था। लेकिन आरक्षक सुभाष और एसआई अनिला ने बच्ची को कचरे से निकाला और बेहद सावधानी के साथ अस्पताल पहुंचाया।

बच्ची लंबे समय से भूखी होने के कारन लगातार बिलबिला रही थी। पाराशर ने आस पास खड़ी महिलाओं से उसे दूध पिलाने का अनुरोध किया। इस पर कोई उस बच्ची को हाथ तक लगाने को तैयार नहीं हुआ। ऐसे में एक साल के बच्चे की मां पाराशर ने बिना देर किए बच्ची को स्तनपान कराया।

ऐसे भी होते हैं पुलिसवाले – महिला एसआई ने कचरे में मिली नवजात को स्तनपान कराया जबकि पास में खड़ी महिलाओं ने उसे हाथ तक…

Posted by Arjun Richhariya on Friday, August 3, 2018

शुक्रवार को जब बच्ची को अस्पताल से इंदौर के चाइल्ड लाइन द्वारा संचालित छाया केंद्र पर लाया गया तब तक अनिला ने ही उसकी मां की भूमिका निभाई। महिला पुलिसकर्मी के इस कदम की सराहना हो रही है।