यमन की जेलों में बंद कैदियों के साथ सऊदी सेना कर रही जानवरों जैसा सुलूख, जानकर दहल जाएगा दिल

0
53

अल जज़ीरा के मुताबिक, पूर्व सैन्य अधिकारियों द्वारा तैयार एक गुप्त रिपोर्ट मिली, जिन्होंने जेल में सऊदी-संयुक्त अरब अमीरात गठबंधन के साथ जेलों और गुप्त हिरासत केंद्रों में कैद्यों के साथ जानवरों वाला सुलूख होता दिखाया गया है.

रिपोर्ट में दी गई जानकारी ने मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को दिए गए कैदियों और अपहरणकर्ताओं के साक्ष्य से मेल खाया है. इस तरह के विवरण ने पिछली जांच में एसोसिएटेड प्रेस द्वारा जो खुलासा किया था जिसमें यह कहा गया था यमन की जेलों में बंद कैदियों के साथ सऊदी और UAE मिलकर अत्याचार कर रहे है जिनके बारे में सोच कर ही रूह काँप उठेगी.

मिडिल ईस्ट मॉनिटर के मुताबिक, रिपोर्ट में अमिरातियों द्वारा सीधे प्रशासित जेलों में किए गए भौतिक और मनोवैज्ञानिक उत्पीड़न के प्रकार सूचीबद्ध हैं. जिनमें महिलाओं के साथ व्यक्तियों द्वारा बलात्कार किया गया. इतना ही नहीं कैदियों की छाती, बगल और नर अंगों में बिजली के झटके दिए गये.  साथ ही रस्सियों में बांधकर कैदियों की बिजली के तारों से पिटाई की जाती है.

YEMEN JAIL

मार पिटाई करने के बाद कैदियों के ज़ख्मों पर लाल मिर्च और नमक डालते है. उनके बदन पर ठंडा पानी डालते है. उन्हें लात और घुसे मारते है साथ ही कैदीयों का अपमान करते है.

ईक्रेट जेल एडेन के सुरक्षा निदेशक, अली शाई हादी की देखरेख में हैं, जो संयुक्त अरब अमीरात के प्रति वफादार हैं. इन जेलों में, बंदियों को गंभीर यातना सत्रों के अधीन किया जाता है. इनमें छड़ें और हथौड़ों, बिजली के झटके, पत्थरों के साथ हड्डी को तोड़ने, पिघला हुआ प्लास्टिक के साथ शरीर के अंगों को जलाना शामिल है.

रिपोर्ट में दक्षिणी यमन में स्थित इन गुप्त संयुक्त अरब अमीरात-नियंत्रित जेलों में होने वाले कुछ अत्याचार बताये गयें है. उल्लंघन बंदियों और अपहरणकर्ताओं पर अत्याचार से लेकर उन्हें मौत के घाट उतारने तक के है. इसके अलावा, रिपोर्ट की गई साइटें और गुप्त कब्रों के नाम, बंदियों को मौत और लापता व्यक्तियों के साथ-साथ अत्याचारों की पहचान और पूछताछ  के दौरान जानवरों जैसी बदसलूखी की गयी.

 

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें