कासगंज एक बार फिर से बना छावनी, तिरंगा यात्रा निकालने की नहीं दी गई अनुमति

0
144

कासगंज। बीते गणतंत्र दिवस पर तिरंगा यात्रा के नाम पर हुई सांप्रदायिक हिंसा से सबक लेते हुए प्रशासन ने इस बार स्वतंत्रता दिवस के मौके पर तिरंगा यात्रा पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है। साथ ही जिले में धारा 144 लागू कर दी।

पिछली बार की तरह इस बार भी भगवा सगठनों ने तिरंगा यात्रा निकालने की अनुमति मांगी। अलीगढ़ मंडल के कमिश्नर अजयदीप सिंह ने बताया कि जनपद में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए तिरंगा यात्रा समेत किसी भी नए कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी गई है। जिले में धारा 144 लागू है। उन्होंने जनपदवासियों से सौहार्दपूर्ण माहौल में स्वतंत्रता दिवस मनाने की अपील की।

अजयदीप सिंह ने कहा कि किसी को भी शांति और कानून-व्यवस्था से खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा। जनपद में अमन-चैन बना रहे इसके लिए सभी लोग सहयोग करें। इस बीच कासगंज में चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल की तैनाती की गई है। कासगंज में पीएसी की तीन कम्पनियां और आरएएफ की एक कंपनी तैनात की गई है।

वहीं कासगंज के एसपी शिवहरि मीणा ने बताया कि 15 अगस्त को दो पक्षों की तरफ से जिला प्रशासन से तिरंगा यात्रा निकालने की अनुमित मांगी गई है। पुलिस ने प्रशासन को तिरंगा यात्रा निकालने की इजाजत नहीं देने की सिफारिश की है, जिससे शहर में पहले जैसी कोई घटना न हो।

बता दें कि विश्व हिन्दू परिषद और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने अल्पसंख्यक समुदाय के मोहल्लों से बीते गणतंत्र दिवस के दिन तिरंगा यात्रा निकालते हुए विवादित नारे लगाए थे। जिसके बाद सांप्रदायिक हिंसा भड़क उठी थी। जिसमे एक व्यक्ति की भी मौत हुई थी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें