अमेरिकी प्रतिबंधों के खिलाफ तुर्की, ईरान और रूस हुए एक

0
263

ईरान, रूस और तुर्की ने परस्पर व्यापारिक लेनदेन में अमरीकी डॉलर के बजाए नेश्नल करेंसियों से काम लेने का संकल्प व्यक्त किया है।

अंकारा में अपने तुर्क समकक्ष मौलूद चावूश ओग़लू के साथ संयुक्त प्रेस कांफ़्रेंस को संबोधित करत हुए रूसी विदेशमंत्री सर्गेई लावरोफ़ ने कहा कि तुर्की, ईरान और रूस व्यापारिक लेनदेन से डॉलर को निकाल बाहर करेंगे।

उन्होंने कहा कि तीनों देश इस बात पर सहमत हुए है कि आपसी व्यापारिक लेनदेन में अमरीकी डॉलर के बजाए नेश्नल करेंसियों को प्रयोग किया जाए। उन्होंने यह बात बल देकर कही कि अमरीका की ओर से डॉलर के दुरुपयोग के कारण संभव है कि दुनिया के दूसरे देश भी डॉलर छोड़ने पर तैयार हो जाएं। सर्गेई लावरोफ़ ने कहा कि रूस, ईरान और तुर्की के साथ व्यापार में नेश्नल करेंसी के प्रयोग को तैयार है।

रूसी राष्ट्रपति के प्रवक्ता दिमित्री पेस्कोफ़ ने भी कहा है कि उनका देश तुर्की के साथ व्यापारिक लेनदेन, दोनों देशों की नेश्नल करेंसियों की वैल्यु के अनुसार अंजाम देने पर ग़ौर कर रहा है।

ईरान पहले ही सरकारी तौर पर डॉलर के बजाए यूरो में व्यापार करने की घोषणा कर चुका है। ईरानी करेंसी के मूल्य का निर्धारण डॉलर के बजाए यूरो की बुनियाद पर किया जा रहा है।

दूसरी ओर तुर्क राष्ट्रपति का कहना है कि अमरीका, तुर्की में सैन्य विद्रोह द्वारा जो लक्ष्य प्राप्त करने में विफल रहा, उन्हें वह आर्थिक युद्ध द्वारा प्राप्त करने का विफल प्रयास कर रहा है। उन्होंने कहा कि अमरीका ने डॉलर द्वारा तुर्क अर्थव्यवस्था पर हमला किया है किन्तु अंकारा भी हाथ पर हाथ धरे नहीं बैठा है और हम दूसरे रास्तों से अमरीका को निशाना बनाएंगे।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें