सनातन आतंकियों के निशाने पर था मराठा आंदोलन, करना चाहते थे बम धमाके

0
85

नई दिल्ली:  आतंकी साजिश में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार शरद कालासकर, वैभव राउत और सुधानवा गोंधेकर नामक सनातन आतंकियों को 28 अगस्त तक के लिए एटीएस की कस्टडी में भेज दिया गया है।

इसी बीच एटीएस की जांच में सामने आया कि तीन आतंकियों की मराठा आरक्षण आंदोलन के दौरान बम धमाके करने की योजना थी। आरोपितों की योजना बम धमाकों को मुंबई, पुणे, सतारा, सोलापुर और नालासोपारा में अंजाम देने की थी। एटीएस के मुताबिक कम तीव्रता के इन बम धमाकों का मकसद प्रशासन को एक कड़ा संदेश देना था।

बता दें कि एटीएस ने मुंबई के निकट नालसोपारा से वैभव राउत, शरद कालास्कर और पुणे से सुधन्वा गोंधालेकर को गिरफ्तार किया था। राउत के आवास और दुकान पर छापेमारी के बाद एटीएस ने 20 देसी बम और बम सर्किट ड्रॉविंग समेत भारी मात्रा में विस्फोटक जब्त किए थे। इतना ही नहीं आतंकियों से चार एयर पिस्टल्स, 20 एयर पिस्टल पैलेट्स, दो सीपीयू, दो नोटबुक, एक डायरी, तीन मोबाइल और दो सिमकार्ड बरामद किए गए थे।

वैभव राउत के घर बुधवार को मारे गए छापे में एटीएस ने एक डायरी, नोटबुक, मोबाइल, सिमकार्ड, 20 एयर पिस्टल के माचिस के आकार के पैलेट, 4 एयर पिस्टल, दो सीपीयू, 1 लैपटॉप और एक इनोवा कार जब्त किया है। एटीएस ने इस सभी सामान को फोरेंसिक लैब में जांच के लिए भेज दिया है।

एटीएस सूत्रों का कहना है कि बरामद की गई नोटबुक और डायरी से कई अहम सुराग हाथ लगे हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार, एटीएस की एक टीम ने वैभव के एक करीबी के घर पर एक लेपटॉप की जांच भी की।