केरल में बीफ खाते है इसलिए आई बाढ़, पूछा – फिर उत्तराखंड में क्यों आई थी ?

0
216

एक तरफ केरल इस सदी की सबसे बड़ी बाढ़ का सामना कर रहा है। दुनिया भर से लोग बाढ़ प्रभावितों की मदद कर रहे है। लेकिन कुछ लोग है जो मदद करना तो दूर बल्कि उनके जख्मों पर नमक छिड़क रहे है। इन लोगों का कहना है कि केरल मे बाढ़ इसलिए आई कि वहाँ के लोग बीफ खाते है।

लोगों ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि केरल में रहने वाले हिंदू बीफ खाते हैं इसलिए वहां पर ऐसी विपदा आई है, ऐसे लोगों के मुताबिक ‘गॉड्स ओन कंट्री’ के लोगों ने बीफ खाकर ईश्वर को नाराज़ कर दिया है इसलिए वो लोग झेल रहे हैं अगर यहां लोगों ने बीफ खाना बैन नहीं किया तो केरल में ऐसी विपदाएं आती रहेंगी।

मदद के नाम पर इन लोगों का कहना है कि ‘कैसी मदद? अधिकतर केरल के बाहर, खाड़ी आदि में काम करते हैं। ऐसे कॉमरेड्स का लिए इस्लामिक संगठन और चर्च उनकी अच्छा देखभाल करते हैं। आप उन्हें खाना देकर उनकी मदद करना चाहेंगे तो वह बीफ करी मागेंगे।’

बता दें कि इससे पहले आरएसएस से जुड़े और भारतीय रिजर्व बैंक के बोर्ड डायरेक्टर एस गुरुमूर्ति ने इस बाढ़ को सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश से जोड़ा था। गुरुमूर्ति ने ट्वीट कर कहा कि, “सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश को यह देखना चाहिए कि क्या केरल में विनाशकारी बारिश और सबरीमाला मामले में जो हो रहा है, उसके बीच कोई संबंध है?  यहां तक कि अगर लाखों में से किसी एक मौके के साथ भी इसका संबंध होता है तो लोग अयप्पा के खिलाफ मुकदमा को पसंद नहीं करेंगे।”

यह उन्होंने हरी प्रभाकरण द्वारा केरल में बाढ़ को लेकर किए गए एक ट्वीट पर रिट्वीट करते हुए लिखा। प्रभाकरण ने लिखा है, “भगवान से उपर कोई नियम नहीं है। यदि आप भगवान के ऊपर कोई कानून नहीं है, … यदि आप सभी को मंदिर में प्रवेश की अनुमति देते हैं, तो वह हर किसी से इनकार करता है।”