भारी बारिश-भयंकर तूफ़ान से उड़ा काबे शरीफ का गिलाफ, विडियो हुआ वायरल

0
446
SOURCE: AL ARABIYA

रॉयटर्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया भर के 2 मिलियन से अधिक हज यात्रियों ने रविवार को सऊदी अरब में तूफान के मौसम और तेज़ बारिश के चलते हज शुरू करने के लिए हरम शरीफ पहुंचे।  देश के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि बीमारी के किसी भी प्रकोप का कोई संकेत नहीं है।

सऊदी अरब में हज के संस्कार आरंभ हो चुके हैं। दुनिया भर से लाखों की संख्या में सऊदी अरब पहुंचे मुसलमान इस समय मिना पहुंच चुके हैं और सोमवार दिन एवं रात इसी स्थान पर गुज़ारेंगे। मिना में रुकना हज के संस्कारों में से एक मुख्य कार्य है। मंगलवार की सुबह सभी तीर्थ यात्री अरफ़ात के मैदान की ओर चल देंगे और वहां पहुंच कर उस पवित्र स्थान के विशेष संस्कारों को अंजाम देंगे। ज़ोहर और अस्र की नमाज़ सभी हाजी एक साथ पढ़ेंगे और सूर्यास्त होने के बाद हाजी मुज़दलेफ़ा की ओर जाएंगे, जहां वे मग़रिब और इशा की नमाज़ पढ़ेंगे।

हाजी मुज़दलेफ़ा के स्थान में पूरी रात बीताएंगे और इस दौरान वे रमी जमरात (शैतान को मारी जाने वाली कंकरियां) को चुनेंगे और फिर सुबह की नमाज़ के बाद एक बार फिर मिना के लिए निकल पड़ेंगे, जहां सबसे बड़े शैतान को कंकरियां मारी जाएंगी। रमी जमरात के बाद सभी हाजी क़ुरबानी करेंगे और अपने बालों को कटवाएंगे।

इसके बाद हाजी “ऐहराम” जो हज का विशेष कपड़ा पहने होते हैं उसको उतार देंगे। ऐहराम उतारने के बाद हाजी पवित्र मक्का पहुंचकर मस्जिदुल हराम में तवाफ़ (परिकर्मा) करेंगे। इसके बाद हाजी सफ़ा व मरवा के दौरान “सई” नमाक संस्कार को अंजाम देंगे। हज के इन सभी संस्कारो को पूरा करने के पश्चात एक बार फिर सभी हाजी मिना वापस लौटेंगे।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें