ईद-उल-अज़हा से पहले गौरक्षकों की गुंडागर्दी, मुस्लिम युवकों से मारपीट और कराई परेड

0
141

उत्तर प्रदेश के शामली जिले में ईद-उल-अज़हा से ठीक पहले गौरक्षकों की गुंडागर्दी का मामला सामने आया है। गौरक्षकों ने दो मुस्लिम युवकों से पहले मारपीट की और फिर उनकी परेड कराई। इतना ही नहीं पुलिस ने भी दोनों पीड़ितों को उत्तर प्रदेश गोवध रोकथाम कानून के तहत मामला दर्ज कर जेल में डाल दिया।

जानकारी के अनुसार, दिलशाद और शाहरूख एक मंदिर के पुजारी से खरीदकर दो गायें अपने गांव ले जा रहे थे। इसी बीच शामली में भीड़ ने ट्रक का पीछा किया और उन पर हमला कर दिया। गो रक्षक समूह के प्रमुख अनुज बंसल को गिरफ्तार कर लिया गया और बाकी कार्यकर्ताओं की तलाश की जा रही है।

गो रक्षा सेवा दल के कार्यकताओं का आरोप है कि दोनों युवक गाय चोरी कर ले जा रहे थे और जब उन्होंने उन्हें रुकने का इशारा किया तो उन पर गाड़ी चढ़ाकर मारने का प्रयास किया। वहीं पुजारी ने हमलावरों को बताया कि उन्होंने पालने के लिए गायें खरीदी हैं लेकिन फिर भी आरोपियों ने दोनों युवकों से मारपीट की।

पिटाई का वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमे दोनों युवकों को सड़क पर गिराकर घसीट-घसीट कर लाठी डंडों और बेल्टों से पीटा जा रहा है। अधिकारी ने बताया कि घटना के बारे में सूचना मिलने पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और युवकों को बचाया। उन्हें हिरासत में लिया गया है।

अब ऐसे में सवाल उठता है कि अगर गाय की तस्करी की जा रही थी या वध के लिए ले जाया जा रहा था तो पुलिस ने गाय बेचने वाले पंडित को क्यों गिरफ्तार नहीं किया ?