सऊदी में महिला कार्यकर्ता के सिर कलम पर कनाडा ने जताई आपत्ती, कही यह बड़ी बात

0
119

कनाडा की सरकार ने सऊदी अरब में मानवाधिकारों के हनन की बात दोहराते हुए इस देश की एक महिला एक्टिविस्ट को फांसी दिये जाने का कड़ा विरोध किया है।

स्पूतनिक समाचार एजेन्सी के अनुसार कनाडा के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी करके सऊद महिला कार्यकर्ता “इस्रा अलग़मग़ाम” के विरुद्ध फांसी की सज़ा का विरोध किया है।  इससे पहले रेयाज़ के विशेष आपराधिक न्यायालय में सुनवाई के दौरान अभियोजन पक्ष से इस्रा अलग़मग़ाम तथा अन्य पांच अभियुक्तों को आतंकवाद विरोधी क़ानून के अन्तर्गत फांसी देने की मांग की थी।

दूसरी ओर जर्मनी में स्थित यूरोपियन सऊदी आर्गनाइज़ेशन फाॅर ह्यूमन राइट्स ने भी इस्रा की तत्काल स्वतंत्रता की मांग की है।  इस मानवाधिकार संगठन का कहना है कि “इस्रा अलग़मग़ाम” पिछले तीन वर्षों से क़ैद में हैं और इस दौरान उन्हें वकील रखने का भी अधिकार नहीं दिया गया।  उनको सन 2015 में उनके पति “मूसा अलहाशिम” के साथ सरकार विरोधी प्रदर्शनों में भाग लेने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था।

उल्लेखनीय है कि सऊदी महिला कार्यकर्ता “इस्रा अलग़मग़ाम” की आलोचना को लेकर सऊदी अरब और कनाडा में कूटनीतिक तनाव चल रहा है।  सऊदी अरब ने रेयाज़ में तैनान कनाडा के राजदूत को निष्कासित कर दिया जिसके बाद से दोनो देशों के बीच तनाव चल रहा है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें