जर्मनी में एर्दोगान की गोल्डन प्रतिमा लगाने पर शहर में फैला गुस्सा, प्रतिमा पर लिखे अपशब्द

0
256

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तय्यिप एर्दोगान सिर्फ मुस्लिम जगत के ही चहेता नेता नहीं है बल्कि गेर मुस्लिम देशों में एर्दोगान की चर्चाएँ की जाती है. हाल ही में जर्मनी के शहर विस्बादेन में न की गोल्डन प्रतिमा लगाई गयी लेकिन जैसे ही प्रतिमा का अनावरण किया पुरे शहर में कोहराम मच गया. वहां के कुछ नागरिकों ने इसे अच्छा कदम बताया तो कुछ ने एर्दोगान की प्रतिमा लगाने पर आपत्ति जताई.

तुर्की मीडिया के मुताबिक, जर्मन में लोगों ने एर्दोगान की प्रतिमा पर अपशब्द भी लिखे और इसे नुक्साम भी पहुंचाया जिसके मद्देनज़र पुलिस को प्रतिमा को वहां से हटाना पड़ा. आपको बता दें कि, राष्ट्रपति रसेप तय्यिप एर्डोगान की 4 मीटर ऊंची सुनहरी मूर्ति जर्मन शहर विस्बादेन में एक कला स्थापना के हिस्से के रूप में बनाई गई थी लेकिन पुलिस इसके लिए सुरक्षा प्रदान करने में सक्षम नहीं रही.

स्थानीय अधिकारियों ने ट्विटर पर मंगलवार को ट्विटर पर कहा, “शहर ने स्थापना को खाली करने का फैसला किया था, जो समकालीन कला के लिए विस्बादेन बिएननेल का हिस्सा था, क्योंकि इसकी सुरक्षा” अब गारंटी नहीं दी जा सकती जिसके प्रणामस्वरुप प्रतिमा हटाई गयी.”

मंगलवार की शाम को, एर्डोगान के समर्थकों और विरोधियों ने केंद्रीय वर्ग में इकट्ठा किया जहां मूर्ति का निर्माण किया गया और मौखिक रूप से अपनी बात कहने लगे.  एक पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि एक “आक्रामक वातावरण” रहा है लेकिन कहा कि कोई हिंसा नहीं हुई.