ममता ने मोदी सरकार को दी चुनौती – हिम्मत है तो बंगाल में लागू कर दिखाए NRC

0
27

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा पर असम में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के नाम पर लोगों को देश से निकालने का आरोप लगाया। उन्होंने मोदी सरकार को चुनौती दी कि हिम्मत हो तो केंद्र ऐसी ही कवायद बंगाल में करके दिखाए।

तृणमूल छात्र परिषद (तृणमूल कांग्रेस की छात्र शाखा) की स्थापना दिवस के अवसर पर यहां एक रैली को संबोधित करते हुये ममता ने कहा, ‘‘हम बंगाल में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) की अनुमति नहीं देंगे। हम बंगाल टाइगर्स हैं। यदि किसी भारतीय नागरिक को विदेशी करार दिया जाता है, तो हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।’’

ममता ने कहा, ‘वे (बीजेपी) असम से लोगों को गलत तरीके से निकालने की कोशिश कर रहे हैं। कुछ लोग ऐसी ही कवायद से बंगाल से भी लोगों को निकालने की धमकी दे रहे हैं। मैं उन्हें चुनौती देती हूं कि वे हम पर एक उंगली रख कर दिखाएं। उन्हें पता चल जाएगा कि बंगाल किस मिट्टी का बना है।’

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने कहा, ‘‘वे (भाजपा के नेता) हमें चुनौती दे रहे हैं। यदि हमे चुनौती दी जाएगी, तो इसका मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा।’’ ममता बनर्जी ने आगे कहा कि वो सीबीआई का इस्तेमाल क्षेत्रीय नेताओं को परेशान करने के लिए कर रही है। वहीं ममता ने चेतावनी भरे लहज़े में कहा कि 2019 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी पूरी तरह से खत्म हो जाएगी।

उन्होंने रैली में कहा, ‘‘वे (भाजपा) मायावती, अखिलेश, स्टालिन, लालू प्रसाद, कांग्रेस को परेशान कर रहे हैं। अन्यथा वे सत्ता में कैसे बने रह पाएंगे…वे हमे भी रोकने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि हम बंगाल से अपनी आवाज उठाते हैं।’’

राज्य में हाल ही में हुए पंचायत चुनाव का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि बीजेपी सदस्य उन गुंडों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं, जो पहले सीपीएम के लिए काम करते थे। ममता ने कहा, ‘हत्या की राजनीति का सहारा लेने के बावजूद पूर्व में माओवादियों के गढ़ रहे जंगलमहल में बीजेपी केवल कुछ सीटें ही जीत पाई।’