क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के ‘सऊदी को बदलने’ वाले विज्ञापन पर लगा प्रतिबन्ध

0
221

सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के सुधार एजेंडे यानी ‘विज़न 2030’ को लेकर सियासी माहौल गरमाया हुआ है. कई आलोचकों ने बिन सलमान के सुधारों की निंदा की है और कहा की बिन सलमान सऊदी को अँधेरे में ले जा रहे है. इसी के साथ सऊदी के कई सामाजिक कार्यकर्ताओ, मुफ़्ती और इमामों ने भी बिन सलमान के सुधारों की आलोचना की है जिसके चलते सऊदी सरकार ने शाही परिवार की आलोचना करने वालों को गिरफ्तार कर लिया है. इसी के सऊदी के लेखकों ने भी बिन सालमन की आलोचना की जिसके चलते उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया गया.

सीएनबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, जब सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने मार्च में तीन दिनों के लिए यूके (ब्रिटेन) का दौरा किया, तो सऊदी सरकार ने सऊदी के सुधार एजेंडा को बढ़ावा देने वाले ब्रिटिश केबल टीवी पर 1 मिनट का कमर्शियल विज्ञान चलाया. जो सऊदी के “विजन 2030 है .” बड़े प्रेस विज्ञापन ने कहा: “बिन सलमान सऊदी अरब में बदलाव ला रहे है.”

लेकिन अब टीवी विज्ञापन, जो स्काई पर 56 बार चालाया  गया, टीवी और रेडियो पर राजनीतिक विज्ञापन पर देश के सख्त प्रतिबंध को तोड़ने के लिए, यूके के मीडिया नियामक ऑफकॉम द्वारा प्रभावी रूप से प्रतिबंधित कर दिया गया है. ब्रिटेन का कहना है की यह एक सियासी विज्ञान है जिसे टीवी पर अब और नहीं चलाया जा सकता.

CNBC के मुताबिक, इस विज्ञापन ने महिलाओं के ड्राइविंग और सांस्कृतिक कार्यक्रमों सहित सऊदी अरब की छवियों का एक असेंबल दिखाया, जिसमें एक आवाज के साथ कहा गया था: “सऊदी अरब में निस्संदेह चीजें बदल रही हैं … सऊदी महिलाओं को ड्राइव करने की इजाजत है … मनोरंजन क्षेत्र खुद को एक नए के लिए मजबूर कर रहा है. सऊदी तेल पर निर्भरता को कम कर रहा है … मुख्य विश्व साझेदारी मुख्य रूप से यूनाइटेड किंगडम के साथ इस बदलाव के केंद्र में है. हमारे लंबे समय से संबंध दोनों देशों के लिए समृद्धि और सुरक्षा में वृद्धि लाता है. “

लेकिन सऊदी सरकार ने कहा कि यह एजेंसी बेक्स मीडिया द्वारा प्रदान किए गए ऑफकॉम को प्रस्तुत करने के लिए दोनों देशों के बीच व्यापार को बढ़ावा देने के लिए पूरी तरह से चलाया गया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें