नकली नोटों पर भी नोटबंदी हुई पूरी तरह फेल, एसबीआई ने जारी की चेतावनी

0
109

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिन मकसद के लिए नोटबंदी की थी। उनमे से एक भी मकसद पूरा होता नहीं दिख रहा है।दरअसल,  स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने चेतावनी जारी की है कि आने वाले दिनों में नकली नोटों की संख्या बढ़ सकती है।

एसबीआई ने कहा कि आरबीआई का दावा है कि 2000 और 500 के नोट ज्यादा सुरक्षित हैं और इनके नकली नोट नहीं बनाए जा सकते हैं। हालांकि ये बात पूरी तरह से सही नहीं है।’ उन्होंने कहा, ‘रिपोर्ट के मुताबिक 500 (4,178 प्रतिशत की बढ़ोतरी) और 2000 (2,710 प्रतिशत की बढ़ोतरी) के नकली नोटों में भारी इजाफा हुआ है।’

उन्होंने आगे कहा, ‘यह उम्मीद की जाती है कि 500 रुपये और 2,000 रुपये के नए नोटों में नकली नोटों की संख्या में और वृद्धि हो सकती है और आरबीआई / बैंक/ जनता को इस पर अधिक ध्यान देना चाहिए।’

बता दें कि नोटबंदी के समय प्रधानमंत्री ने तीन मकसद बताए थे। पहला यह कि आतंकवाद पर चोट लगेगी, दूसरा यह कि जाली मुद्रा पर अंकुश लगेगा और तीसरा यह कि कालाधन वापस आएगा। लेकिन ऐसा कुछ भी होता हुआ नहीं दिख रहा है।

बुधवार को आरबीआई की और से जारी रिपोर्ट में सामने आया कि नोटबंदी के समय मूल्य के हिसाब से 500 और 1,000 रुपये के 15.41 लाख करोड़ रुपये के नोट चलन में थे। इनमें से 15.31 लाख करोड़ रुपये के नोट बैंकों के पास वापस आ चुके हैं। यानि बंद नोटों में सिर्फ 10,720 करोड़ रुपये ही बैंकों के पास वापस नहीं आए हैं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें