इरम हबीब के रूप में कश्मीर को पहली बार मिली मुस्लिम महिला पायलट

0
39

तीस वर्षीय इरम हबीब पायलट बनने वाली पहली कश्मीरी मुस्लिम महिला बन गई हैं। हबीब अगले महीने एक निजी एयरलाइन में शामिल होगी।

इरम 2016 में घाटी की पहली महिला पायलट के रूप में एयर इंडिया में शामिल हुई, इरम को ये सफलता कश्मीरी पंडित तनवी रैना के बाद हासिल हुई। पिछले साल अप्रैल में 21 वर्षीय आयशा अज़ीज़ कश्मीर से जो भारत के सबसे युवा छात्र पायलट बने।

इरम के पिता सरकारी अस्पतालों के लिए शल्य चिकित्सा उपकरण के सप्लायर हैं। इरम ने अपने बचपन के सपने को पूरा करने के लिए वानिकी में डॉक्टरेट को भी में ही छोड़ दिया था। वह अब वर्तमान में वाणिज्यिक पायलट लाइसेंस प्राप्त करने के लिए दिल्ली में ट्रैंगिन ले रही है।

इरम ने बताया कि उन्होंने 2016 में अमेरिका में मियामी से अपना प्रशिक्षण पूरा किया था। वो कहती हैं कि हर किसी को ये जानकर हैरानी होती है कि मैं कश्मीरी मुस्लिम हूं और पायलट की पढ़ाई पढ़ रही हूं। लेकिन अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए मैं इन चीजों पर ध्यान नहीं देती।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें