सिर्फ 20 सेकेंड में हुआ था काबू वरना हो जाता राहुल का विमान क्रैश: रिपोर्ट

0
49

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लेकर नागरिक विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) की रिपोर्ट में एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। डीजीसीए की रिपोर्ट में सामने आया कि 6 अप्रैल को कर्नाटक के हुबली जाते समय अगर 20 सेकेंड की और देरी होती तो राहुल का विमान क्रैश हो जाता।

न्यूज चैनल टाइम्स नाउ की रिपोर्ट के अनुसार, उसे डीजीसीए की रिपोर्ट मिली है जिसमें कहा गया है कि विमान में तकनीकी खराबी आ गई थी और विमान के चालक दल ने इसे नियंत्रण में लाने में देरी से इस विषय में प्रतिक्रिया की। रिपोर्ट में कहा गया था कि अगर 20 सेकेंड और देरी हुई होती तो यह विमान दुर्घटनाग्रस्त हो सकता था।

बता दें कि राहुल गांधी ने कहा था कि वह अंदर से हिल गए थे। तब उन्हें कैलास मानसरोवर की याद आई थी। इसके बाद राहुल ने कैलाश जाने की बात कही थी। यह रिपोर्ट अभी एनडीए सरकार ने सार्वजनिक नहीं की है। गौरतलब है कि 26 अप्रैल को कांग्रेस अध्यक्ष कुछ अन्य लोगों के साथ कर्नाटक दौरे पर गए थे, तभी विमान में गड़बड़ी हुई थी।

इस मामले की कांग्रेस की तरफ से लिखित शिकायत की गई थी। शिकायत में कहा गया था कि, ‘राहुल गांधी जिस विमान से कर्नाटक आ रहे थे, उसमें दिल्ली से उड़ान भरने के बाद हालात ऐसे महसूस हो रहे थे कि विमान क्रैश होने वाला है।‘ कर्नाटक पुलिस के महानिदेशक और आईजी नीलमणि एन राजूपत्र को लिखे पत्र में कहा गया था कि, ‘विमान में सवार यात्रियों की जान पर बन आई थी।‘

अंग्रेजी चैनल ने दावा किया है कि घटना के 49 दिनों के बाद भी डीजीसीए ने जांच की रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की लेकिन चैनल के हाथ वह रिपोर्ट लगी है और उसमें जो बात सामने आ रही है कि उसके मुताबिक राहुल गांधी के विमान में आई तकनीकी खराबी के पीछे ह्यूमन एरर था। रिपोर्ट के मुताबिक उस दिन राहुल गांधी का चार्टर्ड अचानक एक तरफ झुकने लगा था और उसमें से आवाज आ रही थी। प्लेन ऑटो पायलट मोड पर चल रहा था। खराबी आते ही विमान के पायलटों ने विमान पर काबू पाने की कोशिश की थी।