48 रुपए प्रतिलीटर होनी चाहिए पेट्रोल की कीमत, रंगदारी वसूल रही है मोदी सरकार: बीजेपी सांसद

0
1622

नई दिल्ली। बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अपनी पार्टी की सरकार पर पेट्रोल-डीजल के दामों के जरिए रंगदारी वसूलने का आरोप लगाया। उन्होंने मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि, “सरकार पेट्रोल की कीमत को 48 रुपये प्रति लीटर से नीचे लाए। इससे ज्यादा वसूलना रंगदारी है।”

स्वामी ने सोमवार को अपना फॉर्मूला सुझाते हुए कहा कि पेट्रोल की कीमत प्रति लीटर 48 रुपए होनी चाहिए और सरकार यदि इससे ज्यादा वसूलती है तो वह ‘शोषण’ है। सोमवार को पेट्रोल और डीजल के दाम सोमवार को रिकॉर्ड स्तर पहुंच गए। दिल्ली में सोमवार को पेट्रोल की कीमत 31 पैसा बढ़कर प्रति लीटर 79.15 रुपए के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई।

वहीं, मुंबई में पेट्रोल का भाव प्रति लीटर 86.56 रुपए हो गया है। सोमवार को डीजल के भाव में भी बढ़ोतरी देखी गई। डीजल का भाव 44 पैसे चढ़कर मुंबई में 75.54 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया। दिल्ली में इसका भाव 71.15 रुपए प्रति लीटर हो गया।

केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने रविवार को आरोप लगाया था कि देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ने के पीछे की वजह ‘बाहरी तत्व’ हैं। लेकिन यह बढ़ोत्तरी अस्थायी है। उन्होंने कहा  कि, “क्रूड ऑयल के उत्पादन में कमी भारत में इसकी कीमतों में बढ़ोत्तरी की एक वजह है।

वहीं डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने भी बढ़ती कीमतों की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि डीजल और पेट्रोल की बढ़ती कीमतों पर केंद्र सरकार मूक दर्शक बनी हुई है। एक बयान में स्टालिन ने कहा कि ईंधन की कीमतों को कम करने के लिए सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें