दिखने लगा ‘सऊदीकरण’ का रंग, जांच के डर से इन विभागों के प्रवासियों को बंद करनी पड़ रही दुकाने

0
969
SOURCE: SAUDI GAZETTE

दम्मम – समय सीमा के लिए सिर्फ छह दिन शेष 70% सऊदीकरण ऑटोमोबाइल और मोटरबाइक शोरूम, रेडीमेड कपड़ों और बच्चों और पुरुषों के वस्त्र, घर और कार्यालय प्रस्तुत करने वाले दुकानों और घरेलू बर्तनों की दुकानों की कई दुकानें बंद हो गई हैं क्योंकि यहाँ पर प्रवासी काम करते थे लेकिन सऊदी सरकार ने प्रवासी के खिलाफ जांच शुरू कर दी है. जिन विभागों में प्रवासी के काम पर प्रतिबंध है अगर प्रवासी वहां काम करते पाए जाते है प्रवासियों को जेल होगी.

सऊदी गेजेट के मुताबिक, श्रम और सामाजिक विकास मंत्रालय ने नौ महीने पहले व्यवसायों को अधिसूचित किया था कि उन्हें सऊदी कर्मचारियों को भर्ती करना शुरू करना चाहिए, लेकिन यह पूरी तरह लागू नहीं किया गया.

अपने मालिकों द्वारा इन दुकानों को बंद करने से संकेत मिलता है कि ये अभी भी प्रवासी श्रमिकों द्वारा चलाए जा रहें है.

दम्मम के एक व्यापारी अब्दुल्लातिफ अल-नासर ने कहा कि सऊदीकरण के फैसले के कुछ दिन पहले कई प्रवासी श्रमिकों ने अपने कारोबार बंद कर दिए. इससे पता चलता है कि दुकानें तसट्टूर (कवर-अप व्यवसाय) के तहत कई सालों तक चल रही थीं.

SOURCE: SAUDI GAZETTE

एक प्रवासी कार्यकर्ता इकबाल मुहम्मद उम्मीद करते हैं कि अगले दो महीनों में अधिक दुकानें बंद हो जाएंगी. रियाद के एक विक्रेता, हैतम एन ने कहा कि उनके सऊदी प्रायोजक ने पुरुषों के कपड़े की दुकान के बारे में अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है.

मदीना के एक सऊदी विक्रेता ओवेद अल-हरबी, जो पुरुषों की कपड़ों की दुकान में काम करता है, ने कहा, “मैं यहां नौ महीने तक काम कर रहा हूं.”

मुहम्मद अल-मुताई, जो एक रेडीमेड कपड़ों की दुकान चलाते हैं, ने कहा, “हम सऊदीकरण के फैसले को लागू करने के लिए तैयार हैं और दुकानों में काम करने के लिए प्रवासियों को निकाल लगभग 40 सऊदीयों को नौकरी पर रखा गया है.