सीरिया में विमान हादसे के लिए रूस ने इजराइल को ठहराया जिम्मेदार

0
90

सीरिया के भूमध्यसागर तट के ऊपर उड़ान भर रहा रूसी सेना का विमान अचानक लापता हो गया। रूस की सेना के मुताबिक लापता हुए विमान में 14 लोग सवार थे। जिसे इजराइल के एफ-16 लड़ाकू विमानों ने एक खास रूट लेने के लिए बाध्य किया। उस रूट पर सीरियन एयर डिफेंस सिस्टम तैनात था। 15 सैनिकों वाला रूसी विमान जैसे ही उस रूट पर गया वैसे ही सीरिया की एंटी एयरक्राफ्ट आर्टिलेरी ने उसे मार गिराया।

रूसी रक्षा मंत्री ने कहा कि इजरायली वायुसेना ने रूसी विमान को उस दिशा में बढ़ने के लिए मजबूर कर दिया, जहां सीरियाई मिसाइलें दागी जा रही थीं। हालांकि, इस मामले में अभी तक सीरिया सरकार ने कोई बयान जारी नहीं किया है।
विमान गायब होने की सूचना मिलते ही हड़कंप मच गया। मामले की जांच शुरू हो गई।

रूसी सेना ने कहा कि विमान उस दौरान लापता हुआ, जब इलाके में इजरायल के चार लड़ाकू विमान अपने लक्ष्यों पर हमले कर रहे थे। सरकारी समाचार एजेंसी तास के मुताबिक, लताकिया में सीरियाई ठिकानों पर इजरायल के चार एफ-16 लड़ाकू विमानों के हमले के दौरान विमान रडार से गायब हो गया था।

रूस के मुताबिक इजराइली लड़ाकू विमानों के हमले से ठीक एक मिनट पहले रूसी विमान को चेतावनी दी गई थी, लेकिन निगरानी करने वाले सैन्य विमान के लिए इतने कम समय में रास्ता बदलना मुमकिन नहीं था। पेंटागन के प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका का इस हमले से कोई लेना-देना नहीं है। अमेरिकी सेना ने मिसाइल लांच नहीं की थी।

सीरियाई न्यूज एजेंसी सना ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा कि सीरियाई एयर डिफेंस दुश्मन मिसाइलों का जवाब दे रहा है। अभी यह पूरी तरह पता नहीं चला है कि रूसी विमान के साथ आखिर क्या हुआ। भूमध्यसागर में विमान के मलबे की खोज की जा रही है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें