सऊदी पर नहीं करने देंगे किसी को हमला, मुस्लिम देशों के बीच एकता जरूरी: इमरान खान

0
114

तीन महीने तक कोई विदेशी दौरा नहीं करने का ऐलान करने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान पहले विदेशी दौरे पर सऊदी अरब पहुंचे है। उन्होने ये दौरा सऊदी बादशाह सलमान के निमंत्रण पर किया है। इस दौरान उन्होने ऐलान किया कि वो सऊदी पर किसी भी देश को हमला नहीं करने देंगे।

इस्लामिक मुल्कों की एकता पर ज़ोर देते हुए उन्होने कहा कि ‘हम मुस्लिम देशों को साथ लाना चाहते हैं। हम मध्य-पूर्व में शांति चाहते हैं, क्योंकि यहां जो युद्ध चल रहा है उसमें मुसलमानों को ही नुक़सान हो रहा है। आप इसे लीबिया, सोमालिया, सीरिया और अफ़ग़ानिस्तान में देख सकते हैं।

बीबीसी के अनुसार, आतंकवाद के मुद्दे पर उन्होने कहा, पाकिस्तान पिछले 15 सालों से आतंकवाद से लड़ाई के कारण समस्याग्रस्त रहा है। पाकिस्तान आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई लड़ रहा है लेकिन उसने आतंकवाद को कभी प्रश्रय नहीं दिया। जिन्होंने 9/11 का हमला किया वो पाकिस्तान में नहीं हैं। इसमें कोई पाकिस्तानी शामिल नहीं थे। अल-क़ायदा अफ़ग़ानिस्तान में था। इस युद्ध में पाकिस्तान के शामिल होने का कोई मतलब नहीं है और पाकिस्तान इससे बुरी तरह से प्रभावित हुआ है. 88 हज़ार पाकिस्तानी अब तक जान गंवा चुके हैं। हमारी अर्थव्यवस्था को 100 अरब डॉलर से ज़्यादा का नुक़सान हुआ है। अफ़ग़ानिस्तान से लगे हमारे जनजातीय इलाक़े भी बुरी तरह से तबाह हुए हैं।

उन्होने मुस्लिम देशों के बीच अच्छे रिश्तो की वकालत करते हुए कहा कि सऊदी हमारे साथ हमेशा खड़ा रहा है इसलिए सभी पाकिस्तानी चाहते हैं कि हम भी सऊदी के साथ रहें। मध्य पूर्व में शांति और स्थिरता की सख़्त ज़रूरत है, क्योंकि यहां आपस में ही मुसलमान लड़ रहे हैं।

हम चाहते हैं कि यमन में शांति हो। मुसलमानों को साथ लाने के लिए पाकिस्तान मध्यस्थता की भूमिका निभा सकता है। हम सऊदी पर किसी को हमला नहीं करने देंगे। मेरा मानना है कि सभी तरह के संघर्ष को संवाद के ज़रिए सुलझाया जा सकता है।

आपको बता दें कि, पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने सऊदी और UAE का दो दिनों का दौरा पूरा कर लिया है। वह मंगवार रात सऊदी पहुंचे जहाँ उन्होंने पहले मदीना में मस्जिद अल नबवी का दौरा किया। अपने दौरे के दुसरे दिन यानी बुधवार को इमरान खान ने पहले उमराह अदा किया। सऊदी सरकार ने उनके विशेष सम्मान में खाना- ए- काबा का दरवाज़ा भी खोला।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें