तुर्की की इस मस्जिद को ‘बेहतरीन कारीगरी’ के लिए दुनिया का सबसे बड़ा अवार्ड, देखें खूबसूरत फोटो

0
642

सऊदी के मक्का शहर की ग़ार-ए-हीरा के बारें में हम सब वाकिफ़ है. इसे गार-ए-हिरा गुफ़ा या पहाड़ी भी कहा जाता है. यहाँ हमारे नबी एकांत में नमाज़ अदा किया करते थे. गार-ए-हीरा ऐसी जगह है जहाँ कुरआन की पहली आयत नाजील हुई. यह ग़ार-ए-हिरा जिस पहाड़ी पर है उसे जब्बल-ए-नूर कहा जाता है. तुर्की ने इसी तरह की मस्जिद बनाई है जिसका नाम ‘संकाक्लर मस्जिद’ है. इस मस्जिद को इसकी बेहतरीन कारीगारी के लिए जाना जाता है.

इस मस्जिद का डिजाइन गार-ए-हिरा के जैसा ही बनाया गया है. यह मस्जिद जमीन के नीचे स्थित है, जो हमें प्राचीन इमारतों की याद दिलाता है और औरों से अलग करता है. डिजाइन आर्किटेक्ट एमरे अरोलाट द्वारा खींचा गया था जो 700 वर्गमीटर में स्थित है.

 

तुर्की मीडिया के मुताबिक, एम्रे अरोलात आर्किटेक्चर द्वारा संकाक्लर मस्जिद प्रोजेक्ट ने रॉयल इंस्टीट्यूट ऑफ ब्रिटिश आर्किटेक्ट्स (आरआईबीए) से अंतरराष्ट्रीय उत्कृष्टता 2018 के लिए आरआईबीए पुरस्कार प्राप्त किए, जो 20 सर्वश्रेष्ठ नई संरचनाओं में से एक बन गया. यह पुरस्कार दुनिया का सबसे बड़ा पुरस्कार है.

इंटरनेशनल एक्सेलेंस 2018 के लिए आरआईबीए अवॉर्ड्स देने के लिए दुनिया में सबसे अच्छी नई संरचनाओं का मूल्यांकन करना, जिसे इस क्षेत्र में सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों में से एक माना जाता है, रॉयल इंस्टीट्यूट ऑफ ब्रिटिश आर्किटेक्ट्स ने 20 सर्वश्रेष्ठ नई संरचनाओं की घोषणा की है.

आरआईबीए इंटरनेशनल आर्किटेक्ट पुरस्कार प्राप्तकर्ता, जो अपना दूसरा वर्ष मना रहा है, अंतर्राष्ट्रीय उत्कृष्टता 2018 के लिए आरआईबीए अवॉर्ड्स के प्राप्तकर्ताओं से चुना जाएगा, और विजेता की घोषणा नवंबर में की जाएगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें