कोच्चि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद केरल में हिंदू वोटों के ध्रुवीकरण की उम्मीद कर रही बीजेपी को सबरीमाला विवाद से भी कोई खासा फाइदा नहीं मिला है। दरअसल, केरल में निकाय उपचुनावों में बीजेपी को ना सिर्फ हार का सामना करना पड़ा है, बल्कि इस चुनाव में पार्टी ने अपनी एक जीती हुई सीट भी गंवा दी।

इस चुनाव में कांग्रेस नेतृत्‍व वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट(यूडीएफ) ने 39 में से 21 सीटें जीती हैं। वहीं राबीजेपी को 2 सीटों पर जीत मिली है। शुक्रवार को घोषित हुए परिणाम के अनुसार, कांग्रेस नीत यूडीएफ 12 सीटें जीतकर दूसरे स्थान पर रहा।

29 नवम्बर को उपचुनाव 27 पंचायतों, पांच ब्लाक पंचायत, छह नगर पालिकाओं और एक निगम में हुआ जो कि 14 जिलों में फैला हुआ था। ये सभी सीटें विभिन्न कारणों से खाली हुई थीं। सोशलिस्ट डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया ने दो सीटें जबकि दो सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार विजयी हुए।

बता दें कि सबरीमाला विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राज्य में हुए विरोध प्रदर्शनों के बाद यह पहला मौका था, जब राज्य में किसी तरह का चुनाव कराया गया।

एलडीएफ त्रिशूर जिले की सभी 5 सीटें जीतने में कामयाब रही। वहीं उसे कन्नूर जिले की 4 में से 2, कोझिकोड जिले की एक, मलप्पुरम जिले की 4 में से 2, अलप्पुझा जिले की 5 में से 1 और पलक्कड जिले की सभी 2 सीटों पर जीत हासिल हुई।