प्रतिबंधों पर ईरान की अमेरिका को दो टूक – हम मिसाइलों का परीक्षण और विकास जारी रखेंगे

0
125

ईरान ने रविवार को कहा कि देश की सुरक्षा मजबूत बनाने के लिए वह मिसाइल परीक्षण जारी रखेगा। इससे किसी भी अंतरराष्ट्रीय समझौते का उल्लंघन नहीं होता है।

ईरानी सेना के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल अबूअलफजल शेकरची के हवाले से समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने बताया, “मिसाइल परीक्षण और इस्लामी गणराज्य की समग्र रक्षात्मक क्षमता देश के रक्षा उद्देश्यों के लिए है और हमारे देश की सुरक्षा नीति के अनुरूप है।

उन्होंने कहा, “हम मिसाइलों का परीक्षण और विकास जारी रखेंगे। यह मुद्दा किसी भी वार्ता के ढांचे के बाहर है और हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा नीति का हिस्सा है। हमे इस संबंध में किसी देश की अनुमति की जरूरत नहीं है।”

बता दें कि अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने शनिवार को ईरान पर गलत तरीके से परमाणु परिक्षण करने का आरोप लगाया था और कहा था कि ईरान 2015 में विश्व शक्तियों के साथ किए परमाणु कार्यक्रम से जुड़े समझौते का उल्लंघन कर रहा है।

इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने एक ट्वीट में कहा कि ईरान ने कुछ दिन पहले बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है। यह मिसाइल इजराइल और यूरोप तक मार करने में सक्षम है। इस उत्तेजक व्यवहार को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2015 में विश्व के छह देशों ब्रिटेन, अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, रूस और चीन का ईरान के साथ परमाणु हथियार कार्यक्रम पर रोक लगाने को लेकर समझौता हुआ था। जिसे अमेरिका बाहर हो गया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें