कथित गोहत्या के नाम पर बुलंदशहर में हुई हिंसा को तबलीगी जमात के इज्तिमा से जोड़ने के मामले में सुदर्शन न्यूज के गंदे खेल का यूपी पुलिस ने पर्दाफ़ाश कर दिया है। इतना ही नहीं पुलिस ने सुदर्शन न्यूज के मालिक सुरेश चवहाणके को  चेतावनी भी दी है।

जानकारी के अनुसार, सुदर्शन न्यूज के मालिक सुरेश चवहाणके ने बुलंदशहर हिंसा को तबलीगी जमात के इज्तिमा से जोड़ते हुए कई भ्रामक ट्वीट किये। अपने एक ट्वीट में चव्हाणके ने लिखा कि इज्तिमा में गोहत्या का स्थानीय निवासियों द्वारा विरोध किये जाने की वजह से ये हिंसा भड़की। साथ ही उसने अपने समर्थकों को बुलंदशहर में हो रही हिंसा में लाठीचार्ज, फायरिंग, आगजनी और मौत पर ताजा अपडेट्स देखते रहने के लिए भी कहा।

इसके बाद एक और ट्वीट में चव्हाणके ने लिखा, “स्थानीय लोगों ने चैनल को बताया है कि बुलंदशहर इज्तिमा के बवाल के बाद कई स्कूलों में बच्चे फंसे हैं, रो रहे हैं, लोग जंगल में हैं, घरों के दरवाजे बंद कर लोग डरे-सहमे हूए हैं।”

चव्हाणके के ट्वीट के बाद बुलंदशहर पुलिस ने ट्वीट किया, “कृपया भ्रामक खबर न फैलाएं। इस घटना का इज्तिमा कार्यक्रम से कोई संबंध नही है। इज्तिमा सकुशल संपन्न हुआ है। उपरोक्त हिंसा की घटना इज्तिमा स्थल से 45-50 किमी दूर थाना स्याना क्षेत्र मे घटित हुई है जिसमें कुछ उपद्रवियो द्वारा घटना कारित की गयी है। इस संबंध मे वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।

बता दें कि फेक न्यूज के जरिये सांप्रदायिक तनाव भड़काने के आरोप में चव्हाणके को पहले भी गिरफ्तार किया जा चुका है। यही नहीं, चैनल की एक पूर्व महिला कर्मचारी ने भी उस पर बलात्कार का आरोप लगा चुकी है।