फरीदाबाद में हनुमान मंदिर पुलिस सुरक्षा में, दलितों ने कब्जा करने का किया ऐलान

0
375

पिछले दिनों राजस्थान में चुनावी रैली में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हनुमान को दलित बताना अब भारी पड़ता दिख रहा है। उत्तर प्रदेश में भीम सेना ने दलित समाज के लोगों को एकजुट होकर हनुमान मंदिरों पर कब्जा करने का बयान जारी किया है।

हनुमान मंदिरो पर कब्जे की नौबत के चलते फरीदाबाद पुलिस प्रशासन ने सभी हनुमान मंदिरों की सुरक्षा बढ़ा दी है।गुरुवार सुबह अनिल बाबा फरीदाबाद के बल्ल्भगढ़ में अंबेडकर चौक पर अपने समर्थकों के साथ पहुंचे  और हनुमान जी को दलित बताते हुए कहा की हनुमान जी उनके सपने में आये थे। उन्होंने उनसे अपने आप को स्वर्णो के चंगुल से छुड़ाने की बात कही थी जिसके बाद वह यहां पहुंचे है।

इसके अलावा आगरा में लखनऊ-कानपुर स्थित लंगड़े की चौकी पर हनुमान मंदिर पर लगभग दो दर्जन दलित समुदाय के लोग पहुंच गए। उन्होंने हनुमान चालीसा पढ़ा और दलित देवता हनुमान का जयकारा लगाया। उनकी मांग थी कि अब चूंकि योगी आदित्यनाथ ने कह दिया है इसलिए हनुमान मंदिर का प्रबंधन उनके दलित समुदाय को सौप दिया जाए।

वहीं राजधानी लखनऊ में एक संस्था ‘दलित उत्थान सेवा समिति’ के कार्यकर्ता हजरतगंज स्थित पंचमुखी हनुमान मंदिर पहुंच गए। पूजा अर्चना की और मांग रखी कि हनुमान मंदिर का प्रबंधन उनके समुदाय को दिया जाए। वहां पर मीडिया से बात करते हुए समिति के महासचिव विजय बहादुर ने कहा, “अब जब हनुमान जी को दलित बताया गया हैं तो मंदिर के प्रबंधन में हमको स्थान दिया जाये।”

इसके बाद पश्चिम उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में दलित समुदाय के लोगों ने दलित क्रांति दल कि अगुवाई में एक हनुमान मंदिर पर दलित हनुमान मंदिर, हनुमान चौक का बैनर लगा दिया। लगभग दो घंटे बाद वो लोग पुलिस के समझाने पर हटाए गए।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें