कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सोशल मीडिया के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लगातार निशाना बना रहे हैं। हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में राहुल गांधी ने चौकीदार चोर है के नारे भी लगवाए। आज साल के आखिरी दिन भी राहुल ने मोदी पर अपना हमला जारी रखा।

2017-18 के वित्‍त वर्ष में बैंकों को 41 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा की धोखाधड़ी को लेकर कांग्रेस अध्‍यक्ष ने ट्वीट किया, ‘चौकीदार का भेष, चोरों का काम। बैंकों के 41,167 करोड़, सौंपे जिगरी दोस्‍तों के नाम।’ राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में 41,167 करोड़ रुपए की रकम से होने वाले वित्‍तीय काम का भी हवाला दिया। उन्‍होंने लिखा, ‘41,167 करोड़ रुपए में मनरेगा पूरे एक साल तक चल जाता, तीन राज्‍यों के किसानों का कर्जा माफ हो जाता और 40 AIIMS खुल जाते।’

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ये आरोप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरबीआई की एक रिपोर्ट के आधार पर लगाए हैं. इस रिपोर्ट में जिक्र किया गया है कि साल 2017-18 के बीच धोखाधड़ी करके लोगों ने बैंकों से 41,167.7 करोड़ रुपए लूटे हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि ये रकम पिछले साल की तुलना में 72 फीसदी ज्यादा है। पिछले साल बैंकों ने इस तरह के फ्रॉड में 23, 993 रुपए गंवाए थे. बैंकों के रुपए गंवाने का सिलसिला लगातार बढ़ता जा रहा है।

साल 2013-14 में बैंकों ने 10,170 करोड़ रुपए गंवाए थे। पिछले चार साल में बैंकों से होने वाली फ्रॉड की रकम चार गुना बढ़ गई है। जितने भी रुपए का इस साल बैंकों से फ्रॉड हुआ है उसमें 50 करोड़ रुपए से अधिक रुपए के होने वाले फ्रॉड की हिस्सेदारी 80 फीसदी है। फ्रॉड के 93 प्रतिशत केस सरकारी बैंकों में हुए हैं। प्राइवेट बैंकों का रिकॉर्ड इसमें बेहतर दिख रहा है।

इसी के साथ राफेल डील के मुद्दे पर लोकसभा में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे एक बार फिर मोदी सरकार पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि अगर सौदा पूरी तरह पारदर्शी है तो सरकार को जेपीसी से जांच कराने में ऐतराज क्यों है। राफेल के मुद्दे पर केंद्र सरकार हर किसी से झूठ बोल रही है।