ADG जसवीर सिंह को किया गया सस्‍पेंड, सांसद योगी पर लगाई थी रासुका

0
97

उत्तर प्रदेश सरकार ने अपर पुलिस महानिदेशक (रूल्स एवं मैनुअल) जसवीर सिंह को निलंबित कर दिया है. उन पर सेवा नियमावली का उल्लंघन करने का आरोप है.

ध्यान रहे एडीजी जसवीर सिंह ने कुछ दिनों पहले एक अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट को अपना साक्षात्कार दिया था. जिसके बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया है. इस साक्षात्कार में जसवीर सिंह ने ‘राज्य की शासन व्यवस्था पर राजनीति के असर’ पर अपनी राय रखी थी.

जसवरी ने हफिंगटन पोस्ट को दिए गए इंटरव्यू में कहा था कि मैं आईपीएस अफसर हूं। मैं सिद्घांतों से समझौता नहीं कर सकता. इसके बाद 14 फरवरी को उन्हें सस्पेंड कर दिया गया. नाम ना बताने के शर्त पर एक वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि ‘जसवीर सिंह का निलंबन राजनीति से प्रेरित था क्योंकि उनके काम करने का तरीका अलग है.’

वहीं सिविल डिफेंस डिपार्टमेंट के आईजी अमिताभ ठाकुर ने कहा कि ‘इस तरह के मामलों में सरकार की कार्रवाई निश्चित तौर से पारदर्शी होनी चाहिए.’ मूलत: पंजाब के होशियारपुर के रहने वाले जसवीर सिंह ने ही 2002 में महाराजगंज का एसपी रहते हुए योगी आदित्यनाथ पर रासुका के तहत कार्रवाई की थी। हालांकि, उसके दूसरे दिन जसवीर का फूड सेल में तबादला कर दिया गया था.

फूड सेल में भी उन्होंने कई करोड़ रुपए के अनाज घोटाले की जांच की थी. बाद में यह मामला सीबीआई को सौंप दिया गया था. साल 1997 में जसवीर सिंह उस वक्त सुर्खियों में आए थे जब वो एसपी के तौर पर प्रतापगढ़ में तैनात थे. तब उन्होंने कुंडा के विधायक राजा भैया पर शिकंजा कसा था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें