संयुक्त अरब अमीरात यानी यूएई ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान ज़ायेद मेडल से सम्मानित करने की घोषणा की है. इसकी घोषणा यूएई के राष्ट्रपति शेख़ ख़लीफ़ा बिन ज़ायेद अल नहयान ने की.

प्रधानमंत्री मोदी को यह सम्मान भारत और यूएई के आपसी संबंधों को मजबूत करने के लिए दिया गया है. पिछले कुछ वर्षों में दोनों देशों के संबंध नई ऊंचाई पर पहुंचे हैं और इस द्विपक्षीय संबंध को नया आयाम देने में पीएम मोदी की अहम भूमिका रही है. इससे पहले यह सम्मान महारानी एलिजाबेथ, जॉर्ज डब्ल्यू बुश, व्लादिमीर पुतिन, निकोलस सरकोजी, शी जिनपिंग और एंजेला मर्केल को मिल चुका है.

शेख़ ख़लीफ़ा बिन ज़ायेद अल नहयान ने ट्वीट कर कहा, “भारत के साथ हमारे ऐतिहासिक और रणनीतिक संबंध हैं, मेरे प्रिय मित्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की निर्णायक भूमिका से इस रिश्ते को और बढ़ावा मिला है। उनके प्रयासों की सराहना में यूएई के राष्ट्रपति उन्हें जायेद मेडल प्रदान करते हैं।”

इससे पहले फरवरी में पीएम मोदी को सियोल शांति पुरस्‍कार से सम्मानित किया गया. पीएम मोदी यह सम्‍मान पाने वाले पहले भारतीय हैं. प्रधानमंत्री मोदी को उनकी आर्थिक नीतियों, ‘एक्‍ट ईस्‍ट’ नीति और व‍िकासोन्‍मुखी कार्यों के लिए यह सम्‍मान दिया गया.

पीएम मोदी ने इसे 130 करोड़ भारतीयों का सम्मान बताया. पीएम मोदी से पहले यह पुरस्‍कार संयुक्‍त राष्‍ट्र के पूर्व महासचिवों कोफी अन्‍नान और बान की-मून को भी मिल चुका है.