सऊदी अरामको रिलायंस की 25% हिस्सेदारी खरीद सकती है, बातचीत जारी

0
388
दुनिया की सबसे बड़ी क्रूड ऑयल प्रोड्यूसर सऊदी अरामको मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज पर बड़ा दांव लगाने की तैयारी में है। दरअसल, सऊदी अरब सरकार के स्वामित्व वाली कंपनी आरआईएल (RIL) के रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल्स बिजनेस में 25 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के लिए ‘गंभीर बातचीत’ कर रही है।
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरब की सबसे बड़ी तेल निर्यातक कंपनी सऊदी अरामको ने चार महीने पहले रिलायंस में रुचि दिखाई थी। इस मामले को लेकर सऊदी के राजकुमार मोहम्मद बिन सलमान ने फरवरी में अपने भारत दौरे के समय मुकेश अंबानी से मुलाकात भी की थी। जिसके बाद से ही बातचीत जारी है।
बता दें आरआईएल का रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल्स व्यवसाय करीब 55-60 अरब डॉलर का है। वहीं अगर आरआईएल थोड़ी हिस्सेदारी बेच दे तो उसे 10 से 15 अरब डॉलर मिल सकते हैं। इस कंपनी का मार्केट कैप मंगलवार को भी 122 अरब डॉलर (8.5 लाख करोड़ रुपये) पर पहुंच गया था।
वित्तीय क्षेत्र के एक जानकार ने कहा, ‘RIL ने एनर्जा से लेकर रिटेल और रिटेल से लेकर टेलिकॉम तक खासा काम किया है। इस डील से यह फंड बढ़ाने में मदद मिलेगी और शेयर होल्डर को भी खासा फायदा होगा।’  RIL ने टेलिकॉम क्षेत्र में रिलायंस जियो में खासा निवेश किया है, जिससे उस पर कुल कर्ज 3 लाख करोड़ हो गया है। कर्ज कम करने की प्रक्रिया जियो को विस्तार की योजना पर काम करने का मौका मिलेगा देगा।
माना जा रहा है कि सौदे पर काफी समय से विचार किया जा रहा है। दिसंबर में मुकेश अंबानी की बेटी इशा के प्री-वेडिंग फंक्शन में भी सऊदी अरब के तेल मंत्री खालिद अल फालिह पहुंचे थे। उन्होंने इस दौरान भारत की रिफाइनिंग क्षमता को बढ़ाने की दिशा में रिलायंस के अलावा अन्य कंपनियों के साथ अरामको केजॉइंट वेंचर शुरू करने में रुचि दिखाई थी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें