साध्‍वी प्रज्ञा को लेकर कर रहे थे प्रेस कॉन्फ्रेंस में बचाव, बीजेपी सांसद को मारा जूता

0
56

मालेंगाव ब्लास्ट में आरोपी साध्‍वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को बीजेपी की और से भोपाल संसदीय सीट से चुनाव मैदान में उतारा गया है। जिसके बाद कई नेताओं ने साध्वी की उम्मीदवारी के खिलाफ नाराजगी जताई है।

ऐसे में साध्‍वी प्रज्ञा को भोपाल से उम्‍मीदवार बनाने के बीजेपी के फैसले को लेकर दिल्‍ली में पार्टी के एक संवाददाता सम्‍मेलन रखा गया था। इस दौरान अफरा-तफरी की स्थिति उत्‍पन्‍न हो गई, जब एक शख्‍स ने संवाददाताओं से बातचीत कर रहे पार्टी के प्रवक्ता व सांसद जीवीएल नरसिम्हा राव की तरफ जूता उछाल दिया। हालांकि वह बाल-बाल बच गए और वहां मौजूद लोगों ने उस शख्‍स को काबू कर लिया।

प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में मौजूद लोगों ने उसे तुरंत पकड़ लिया और मीडिया रूम से बाहर ले गए। इसके बाद प्रेस कॉन्‍फ्रेंस रोक दी गई। राव ने इस घटना के लिए ‘कांग्रेस प्रेरित’ शख्‍स को जिम्‍मेदार ठहराया है। उन्‍होंने कहा, ‘यह कांग्रेस से प्रेरित शख्‍स द्वारा अंजाम दिया गया काम है, जिसने एक बार फिर उसी मानसिकता को दर्शाया। लेकिन हम समाज में इस तरह के आपराधिक तत्‍वों की वजह से न रुकेंगे, न डरेंगे।’

दूसरी और कांग्रेस समर्थक तहसीन पूनावाला ने भोपाल में साध्वी प्रज्ञा की उम्मीदवारी के खिलाफ चुनाव आयोग में अर्जी दी है। उन्होंने कहा है कि मालेगांव ब्लास्ट की आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को चुनाव लड़ने से रोका जाए। उनके मुताबिक साध्वी की उम्मीदवारी ध्रुवीकरण करने की कोशिश है।

तहसीन पूनावाला ने इसको लेकर एक ट्वीट भी किया है और उसमें लिखा है कि मैंने इलेक्शन कमीशन को एक पत्र लिखा है जिसमें मैंने कहा है कि साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को लोकसभा चुनाव 2019 लड़ने से रोका जाए क्योंकि उन पर आतंकवाद के आरोप हैं। हार्दिक पटेल को भी दंगे फैलाने के आरोप में ईसी ने चुनाव लड़ने से रोका है। मैं किसी राजनीतिक पार्टी का सदस्य नहीं हूं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें