लोकसभा चुनाव के छठे चरण के लिए आज मतदान हो रहा है। पश्चिम बंगाल (Bengal) की भी 8 सीटों पर आज वोटिंग है, लेकिन मतदान शुरू होने से पहले ही हैरान करने वाली खबर आ रही है।

दरअसल, मतदान शुरू होने से पहले भाजपा के एक बूथ कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई है। यह घटना झारग्राम में घटित हुई। मृतक का नाम रामेन सिंह है। भाजपा के कार्यकर्ता के अलावा तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के एक कार्यकर्ता का भी शव मिला है।

इसके अलावा टीएमसी के दो कार्यकर्ताओं को गोली मार दी गई है। दोनों कार्यकर्ताओं को तमलुक के अस्पताल में भर्ती किया गया है। तो वहीं बेल्दा के टीएमसी कार्यालय पर भी हमला किया गया है। टीएमसी का आरोप है कि ये हमला बीजेपी ने करवाया है।

दूसरी और बीजेपी ने आरोप लगाया है कि रामेन सिंह की हत्या की गई है, उन्होंने टीएमसी के कार्यकर्ताओं को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है. हालांकि, स्थानीय पुलिस ने इससे इनकार किया है। शुरुआती जांच के आधार पर पुलिस का कहना है कि रामेन सिंह पहले से ही बीमार था और उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

झारग्राम जिले के चुनसोले गांव में गांववालों ने देर रात को बीजेपी कार्यकर्ता का शव बरामद किया था। बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय का दावा है कि तृणमूल कांग्रेस सिंह के घर में घुसे और उसकी हत्या कर दी। बीजेपी कार्यकर्ता की मृत्यु के बाद से इलाके में तनाव का माहौल है।

बता दें कि लोकसभा चुनाव के अभी तक हर चरण में बंगाल से हिंसा की खबरें आई हैं। फिर चाहे वह कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई हो या फिर पोलिंग बूथ पर ही देसी बम से हमला किया जाना हो। बंगाल में पांचों चरण के दौरान हिंसा लगातार बढ़ती गई है, लेकिन हर बार वोटिंग का प्रतिशत भी ज्यादा ही रहा है।