कांग्रेस सरकार महाराणा प्रताप पर बदलेगी बीजेपी का सिलेबस, ना तो अब अकबर और ना ही प्रताप महान

0
65

राजस्थान की कांग्रेस सरकार पिछली भाजपा सरकार के पाठ्यक्रम में किए बदलाव को फिर से बदलने जा रही है। ध्याना रहे भाजपा सरकार ने पाठ्यक्रम में महाराणा प्रताप को हल्दीघाटी के युद्ध का विजेता बताया था।

संशोधित पाठ्यक्रम में महाराणा प्रताप की जगह अकबर को भी विजेता घोषित नहीं किया गया है। 12वीं कक्षा की इतिहास की पुस्तक में हल्दीघाटी के युद्ध के बारे में विस्तार से लिखा गया है। इसमें अकबर और महाराणा प्रताप में से किसी को महान नहीं बताया गया है।

संशोधित पाठ्यक्रम पर राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि हल्दीघाटी के युद्ध का विजेता कौन रहा ये पढ़ाना जरुरी नहीं है। हमारा उद्ेश्य हार-जीत पढ़ाना नहीं है। डोटासरा ने कहा कि संशोधित पाठ्यक्रम में महाराणा प्रताप के संघर्ष के बारे में बताया गया है, जिससे छात्र प्रेरणा ले सके।

डोटासरा ने कहा कि इस पाठ्यक्रम में ये बताने की भी कोशिश की गई है कि हल्‍दीघाटी युद्ध हिंदू-मुस्लिम के बीच की जंग नहीं थी । किताब में दोनों के मुस्लिम सेनापति के जरिए इसे समझाया गया है। डोटासरा ने कहा कि हम महाराणा प्रताप पर भाजपा द्वारा पाठ्यक्रम में की जा रही सियासत से दूर रहना चाहती है।

डोटासरा का कहना है कि हमने गणित की पुस्तक भी नई छपवाई है,भाजपा सरकार की गणित पढ़कर छात्र पकौड़े तलने वाले ही बन सकते थे ।

यह विसंगति भी :  नए सिलेबस में दसवीं कक्षा में अकबर के चैप्टर में कुछ बदलाव किया है। पहले लिखा था कि 1562 में अकबर ने बाज बहादुर से मालवा चुनार का किला गोडवाना का किला जीता था। अब नए सिलेबस में इसको बदलकर 1516 कर दिया गया है। इसके हिसाब से देखा जाए तो अकबर ने जन्म से पहले ही यह किला जीत लिया था। क्योंकि अकबर का जन्म ही 1542 में हुआ था।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें