कमल हासन के खिलाफ याचिका रद्द, हाई कोर्ट ने बीजेपी नेता से कहा – सही मंच पर जाएं

0
104

अभिनेता से राजनेता बने कमल हासन के ‘हिंदू आतंकवाद’ पर दिए बयान पर को लेकर बीजेपी नेता अश्विनी अपाध्याय की याचिका को दिल्ली हाई कोर्ट ने बुधवार को खारिज कर दिया। कोर्ट ने कहा कि वह अपनी बात रखने के लिए सही मंच पर जाएं।

गौरतलब है कि कमल हासन ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का उल्लेख करते हुए कहा था कि स्वतंत्र भारत का पहला उग्रवादी एक हिंदू था। जिसके बाद भाजपा नेता अश्विनी उपाध्याय ने याचिका दाखिल की और इसमें चुनावी लाभ के लिए धर्म के दुरूपयोग को लेकर दलों का पंजीकरण रद्द करने और प्रत्याशियों को चुनाव लड़ने पर रोक लगाने की मांग की है।

बेंच में शामिल जस्टिस जी एस सिसतानी और जस्टिस ज्योति सिंह ने कहा कि कमल हासन ने यह बयान तमिलनाडु में दिया है ऐसे में याचिकाकर्ता सही मंच पर जाकर अपनी बात रखें। इसके साथ ही कोर्ट ने चुनाव आयोग से कहा है कि वह इस मामले में बीजेपी नेता की याचिका में की गई मांगों पर संज्ञान लें।

बीजेपी नेता और वकील उपाध्याय ने अपनी याचिका में उनके इस बयान को चुनावी फायदे के लिए दिया गया बयान कहा है और आचार संहिता का उल्लंघन बताया है।

उन्होंने अपने बयान के जरिए हिंदू समुदाय की भावनाओं को भी ठेस पहुंचाने की कोशिश की है। वह जानबूझकर धर्म के आधार पर अपने बयान के जरिए विभिन्न समूहों के बीच नफरत को बढ़ावा दे रहे हैं। उनका बयान पूर्णत: निंदनीय है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें