बीजेपी सांसद की ध’मकी पर AMU छात्रसंघ ने कहा – यूनिवर्सिटी से नहीं हटेगी जिन्‍ना की तस्‍वीर

0
111

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में जिन्ना की तस्वीर को लेकर विवाद फिर से गरमा गया है। दरअसल, लोकसभा चुनाव जीतने के बाद स्थानीय भाजपा सांसद सतीश गौतम ने कहा था, “अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के कैंपस से मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को हटवाकर उसे पाकिस्तान भेजना मेरी प्राथमिकता है।

ऐसे में अब अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी स्‍टूडेंट्स यूनियन (एएमयूएसयू) ने स्‍पष्‍ट तौर पर कह दिया है कि स्‍टूडेंट्स हॉल से पाकिस्‍तान के संस्‍थापक मोहम्‍मद अली जिन्‍ना की तस्‍वीर नहीं हटेगी। यूनियन का कहना है कि यह तभी हटेगी जब मानव संसाधन मंत्रालय की ओर से ऐसा निर्देश जारी किया जाए।

गुरुवार को स्‍टूडेंट यूनियन के 137वें वार्षिक समारोह में हुए विचार-विमर्श के बाद यह ऐलान किया गया। गुरुवार को ही एएमयूएसयू के मौजूदा छात्र संघ (2018-19) के कार्यकाल की समाप्ति भी हुई। इस दौरान सलमान इम्तियाज इसके अध्‍यक्ष रहे।

छात्रसंघ के निवर्तमान सचिव हुजाएफा आमिर रश्दी ने कहा, “किसी एक खास को निशाना बनाना ठीक नहीं है। आप कहां-कहां हटवाएंगे? बंटवारे के लिए जिम्मेदार गांधी हैं, नेहरु भी हैं, ऐसे में आप पहले उनकी तस्वीर हटवाइए। यदि जिन्ना की तस्वीर हटाने के लिए कोई कानून आता है तो ठीक है। लेकिन मुझे नहीं लगता कि ऐसी कोई बात होगी। डेढ़-दो साल पहले सांसद ने इस मुद्दे को बड़े स्तर पर उठाया था। चर्चा में आने के लिए विवाद पैदा किए गए ताकि दोबारा टिकट मिल जाए। इस बार भी ये मोदी जी के नाम पर सांसद बन गए। इन्हें चाहिए कि वे जमीन पर काम करें। विश्वविद्यालय के विकास के लिए काम करें। फर्जी बयानबाजी करने के कोई काम नहीं होता।”

छात्रसंघ का कहना है, ‘यह विश्वविद्यालय की विरासत का हिस्सा है। यही वजह है कि कॉलेज प्रशासन भी इसकी देखभाल करती है।’ हालांकि, पिछली बार जब विवाद हुआ था तो तत्कालीन मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावेडकर ने कहा था, ‘इस तस्वीर पर विश्वविद्यालय को उचित फैसला लेना चाहिए। यह विश्वविद्यालय को तय करना है कि वह इसे रखना चाहती है या हटाना।’ इसके बाद विश्वविद्यालय ने तस्वीर को हटाने की जगह उसी स्थान पर रखने का फैसला किया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें