लोकसभा में निर्मला सीतारमण ने माना – नोटबंदी के बाद से देश में बढ़ा भ्रष्टाचार

0
246

अपने पिछले कार्यकाल में नोटबंदी को लेकर विपक्ष के निशाने पर रही मोदी सरकार की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही है। दरअसल, देश में नोटबंदी के बाद से भ्रष्टाचार और गैरकानूनी गतिविधियों में बढ़ोत्तरी हुई है। इस बात की पुष्टि नेशनल इन्फोर्मेटिक्स सेंटर ने भी की है।

लोकसभा में बिहार से सांसद रामप्रीत मंडल के के सवाल के जवाब में केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने स्वीकार किया कि ‘नोटबंदी के बाद से देश में नगदी का सर्कुलेशन बढ़ा है।’ वित्त मंत्री ने ये भी कहा कि ‘नगदी के सर्कुलेशन का संबंध गैरकानूनी गतिविधियों से है।’

सीतारमण ने संसद में दिए अपने जवाब में कहा कि नवंबर, 2016 के बाद से देश में नगदी का सर्कुलेशन बढ़ा है। 4 नवंबर, 2016 को देश में 17,174 बिलियन रुपए की नगदी सर्कुलेशन में थी। वहीं 29 मार्च, 2019 को देश में 21,137 बिलियन रुपए की नगदी चलन में है।

इकॉनोमिक सर्वे 2016-17 वॉल्यूम-1 के मुताबिक दुनिया भर में नगदी के चलन और गैरकानूनी गतिविधियों में संबंध है, जितनी ज्यादा नगदी चलन में होगी, उतना ही देश में भ्रष्टाचार ज्यादा होगा। बता दें कि साल 8 नवंबर, 2016 को केन्द्र की मोदी सरकार ने देश में नोटबंदी लागू कर दी थी। इस नोटबंदी के तहत देश में 500 और 1000 रुपए के नोट बैन कर दिए गए थे।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें