ईरान ने तोड़ी यूरेनियम भंडार की सीमा, डोनाल्ड ट्रंप हुए गुस्से में लाल

0
724

ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने सोमवार को कहा कि ईरान ने 2015 के परमाणु समझौते के तहत अपने संवर्धित यूरेनियम भंडार पर तय की गई सीमा को पार कर लिया है। समाचार एजेंसी एएनआई से मिली जानकारी के मुताबिक जरीफ ने समाचार एजेंसी आईएसएनए से कहा, ‘ईरान ने अपनी योजना के आधार पर 300 किलोग्राम की सीमा पार कर ली है।’

ऐसे में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सोमवार को ईरान को संवर्धित यूरेनियम की सीमा पार नहीं करने की चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि यदि वह अपने परमाणु कार्यक्रम के तहत संवर्धित (एनरिच्ड) यूरेनियम की सीमा को पार करता है तो उसे गंभीर परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। परमाणु समझौते का उल्लंघन कर ईरान आग से खेल रहा है।

इससे पहले सोमवार को अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) के महानिदेशक युकिया अमानो ने ईरान के 300 किलो की संवर्धित यूरेनियम की सीमा पार करने की पुष्टि की थी। इससे पहले भी व्हाइट हाउस ने कहा था कि जब तक ईरान परमाणु समझौते का उल्लंघन करेगा, अमेरिका दबाव बनाता रहेगा।

ब्रिटेन ने ईरान को आगे से किसी भी ऐसे कदम से बचने के लिए कहा है। ब्रिटेन के विदेश मंत्री जेरेमी हंट ने ट्विटर पर कहा कि लंदन “अत्यंत चिंतित” है। उन्होंने ईरान से 2015 के परमाणु समझौते की शर्तों से इतर कोई भी कदम नहीं उठाने की अपील की। उन्होंने कहा, ”ब्रिटेन क्षेत्रीय तनाव को कम करने के लिए सभी कूटनीतिक तरीकों का उपयोग कर समझौते को बरकरार रखने को लेकर प्रतिबद्ध है। मैं ईरान से इसके इतर और कोई कदम नहीं उठाने की तथा ‘अनुपालन की ओर लौटने की अपील करता हूं।”

रूस के उप विदेश मंत्री सर्गेई रयाबकोव ने कहा कि ईरान का कदम “खेदजनक” है लेकिन यह अमेरिका की ओर से बनाए गए “अभूतपूर्व दबाव” और “हालिया घटनाओं का नैसर्गिक परिणाम” है। रूसी संवाद समितियों ने रयाबकोव के हवाले से कहा, “किसी को भी स्थिति को नाटकीय नहीं बनाना चाहिए।”

यूरोपीय संघ ने सौदे को बचाने के मकसद से की गई बैठक के बाद शुक्रवार को कहा कि प्रतिबंधों से पार पाने में ईरान की मदद के लिए स्थापित विशेष भुगतान प्रक्रिया जिसे ‘इनस्टेक्स के नाम से जाना जाता है, वह अंतत: शुरू कर दी गई है। इसने यह भी कहा कि पहले अंतरण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। जरीफ ने कहा कि लेकिन, “यूरोपीय संघ के प्रयास पर्याप्त नहीं हैं, इसलिए ईरान अपने घोषित कदमों के साथ आगे बढ़ेगा।” उन्होंने कहा, “इनस्टेक महज उनकी प्रतिबद्धताओं की शुरुआत है, जिसे अब तक पूरी तरह लागू नहीं किया गया है।”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें