कहते हैं पढ़ने-लिखने की कोई उम्र नहीं होती. केरल की 105 साल की एक बुर्जुग महिला ने इसे सच साबित कर दिखाया है. इस उम्र में उन्होंने चौथी कक्षा की परीक्षा दी है और एग्जाम में 74 फीसदी से ज्यादा मार्क्स हासिल किए हैं. इन महिला का नाम भगीरथी अम्मा है.

भगीरथी अम्मा पिछले साल नवंबर में राज्य साक्षरता अभियान द्वारा कोल्लम में आयोजित परीक्षा में शामिल हुई थीं. हाल ही में इस परीक्षा का रिजल्ट घोषित हुआ है, जिसमें अम्मा ने कुल 275 अंकों में से 205 अंक हासिल किए. इन अम्मा के छह बच्चे और 16 नाती-पोते हैं.

इस बारे में राज्य साक्षरता मिशन के जिला समन्वयक सीके प्रदीप कुमार ने कहा कि अम्मा ने अपनी परीक्षा 74.5 प्रतिशत अंकों के साथ पास की है. यह हर किसी के लिए प्रेरणा देने वाली बात है कि उन्होंने इस उम्र में भी ये जज्बा दिखाया और पढ़ाई की शुरुआत की. अम्मा के इस कदम से और लोग भी आगे आएंगे.

यूं तो अम्मा को बचपन से ही पढ़ाई की चाहत थी. लेकिन आर्थिक विषमताओं के चलते उनकी यह इच्छा अधूरी रह गई. पारिवारिक परिस्थतियों की वजह से उन्होंने 9 वर्ष की उम्र में बीच में ही पढ़ाई छोड़नी पड़ी थी. उस वक्त वे तीसरी क्लास में पढ़ती थीं. इसके बाद से वे शादी और बच्चों की जिम्मेदारियों में फंस गईं थी. लेकिन उम्र के इस मोड़ पर उन्होंने वापस अपनी पढ़ाई पूरी करने का फैसला किया. इसका ही नतीजा है कि आज वे पढ़ रही हैं.