नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ देशभर में विरोध प्रदर्शन के बीच उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में भी 29 जनवरी से धरना प्रदर्शन जारी है। इस प्रदर्शन में हिस्सा लेने को लेकर मशहूर शायर और मुरादाबाद से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ चुके इमरान प्रतापगढ़ी  को जिला प्रशासन ने एक करोड़ चार लाख का नोटिस जारी किया है।

 नोटिस में सामाजिक सौहार्द को खतरा बताया गया है। प्रशासन के अनुसार कानून-व्यवस्था पर खर्च हो रहा है। अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रथम ने अब तक 144 लोगों को इस तरह का नोटिस जारी किया है। इसमें सबसे ज्यादा राशि इमरान प्रतापगढ़ी की है। मुरादाबाद के अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रथम ने अब तक 144 लोगों को इस तरह का नोटिस जारी किया है।

नोटिस के अनुसार, पुलिस मुख्यालय द्वारा निर्धारित मानक के अनुरूप पुलिसबल की प्रतिदिन का व्यय 13 लाख 42 हजार 500 रुपए हो रहा है। अब तक एक करोड़ चार लाख आठ हजार 693 रुपए का राजकीय कोष का खर्च हो चुका है, जिसकी वसूली आपसे की जा सकती है।

ईदगाह मैदान में शायर इमरान प्रतापगढ़ी ने कहा कि अच्छा होता कि मुरादाबाद की जनता उन्हें चुनाव में जिता देती तो वह संसद में नारे लगा रहे होते। उन्होंने कहा कि सीएए लाकर सरकार ने देश के संविधान पर हम’ला किया है। इसे देश की जनता किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगी।

इमरान ने शेर, ‘मुसल्लसल दुश्मने जां की निगहबानी में रहना है, जहां घड़ियाल रहते हैं उसी पानी में रहना है।’ पढ़कर तंज कसा। उन्होंने कहा, ‘जुल्मतों पर चराग भारी है, मेरे सीने की आग भारी है, मोदी जी आपकी हुकूमत पर, एक शाहीन बाग भारी है’।

उन्होंने कहा कि कहा देश का संविधान खतरे में है। इस देश का किसान, मजदूर, मुसलमान, आदिवासी व बंजारा समाज की कई जातियां कहां से कागज दिखाएंगी। उन्हाेंने कहा कि अपने हाथ में तिरंगा, बाबा साहब व गांधी की तस्वीर लेकर आंदोलन करें।