नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद शशि थरूर के खिलाफ दिल्ली की एक अदालत ने 5000 रुपए का जुर्माना लगाया है। उनके खिलाफ ये जुर्माना पीएम मोदी पर विवादित टिप्पणी से जुड़े मामले की सुनवाई में उपस्थित नहीं होने पर शनिवार को लगाया गया।

दरअसल, बीजेपी नेता राजीव बब्बर ने उनके खिलाफ मानहानि का मामला दर्ज कराया था। इससे पहले इसी मामले में शशि थरूर के खिलाफ एक जमानती वारंट भी जारी किया गया था। थरूर पर आरोप है कि उन्होंने कहा था, ‘आरएसएस के एक नेता ने एक पत्रकार से कहा कि मोदी शिवलिंग पर चिपके बिच्छू की तरह हैं, जिसे न तो हटाया जा सकता, और ना ही चप्पल से मारा जा सकता है।’

बब्बर ने शिकायत में कहा था, “मैं भगवान शिव का भक्त हूं…लेकिन आरोपी (थरूर) ने करोड़ों शिवभक्तों की भावना का अनादर किया और ऐसा बयान दिया जिससे देश-विदेश में शिवभक्तों की भावनाएं आहत हुईं।” वहीं, थरूर ने दावा किया था कि एक अज्ञात RSS नेता ने मोदी की तुलना शिवलिंग पर बैठे एक बिच्छू से की थी।

मजिस्ट्रेट ने शिकायतकर्ता भाजपा की दिल्ली इकाई के नेता राजीव बब्बर पर भी अदालत के समक्ष पेश नहीं होने के लिए 500 रुपये का जुर्माना लगाया था। हालांकि, एक जूनियर वकील ने बब्बर का प्रतिनिधित्व किया। आपको बता दें कि शशि थरूर ने बैंगलोर में लिटरेचर फेस्टिवल में कहा था कि आरएसएस के एक व्यक्ति ने उनसे कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शिवलिंग पर चढ़े बिच्छू की तरह हैं जिन्हें न हाथ लगाया जा सकता है और न चप्पल।