सारी दुनिया इन दिनों कोरोना वायरस से त्र’स्त है. सोचिये, ऐसे में कोई कहे कि उसे इस बारे में कोई जानकारी ही नहीं कि दुनिया इस कदर मुसी’बत का सामना कर रही है तो आपको कैसा लगेगा? जी हाँ, ऐसा ही एक कपल सामने आया है.  ब्रिटेन के मैनचेस्टर के ऐलेना मनीगेट्टी और रयान ओसबोर्न ने हाल ही में कोरोनोवायरस महामा’री के बारे में पता चला. बीबीसी के हवाले से बताया गया है कि दंपति पिछले महीने कैनरी द्वीप से कैरिबियन के अटलांटिक महासागर में कैरिबियन के लिए यात्रा कर रहे थे. जब दुनिया भर में अत्यधिक संक्रामक बीमारी फैल रही थी. ऐलेना और रयान ने 2017 में अपनी नौकरी छोड़ दी थी और दुनिया घूमने के लिए एक नाव खरीदी. वो अपने परिवार के संपर्क में थे, लेकिन वो ट्रिप पर जाने से पहले बता चुके थे कि उनको कोई बुरी खबर न सुनाई जाए. जब दोनों ने मार्च के मध्य में एक छोटे से द्वीप पर जाने करने की कोशिश की, तो 25 दिनों के बाद समुद्र में बाहरी दुनिया के साथ थोड़ा सा संचार हुआ, वे यह जानकर चौंक गए कि कैरेबियाई द्वीप ने अपनी सीमाओं को सील कर दिया था.

ऐलेना और रयान ने अपने ब्लॉक सेलिंग किटीवेक में बताया कि उन्होंने कोरोनोवायरस सं’कट के बारे में बहुत कम सुना था जिसने वैश्विक अर्थव्यवस्था को बा’धित किया है, जिससे दुनिया भर में ताला’बंदी हो गई और अरबों-खरबों लोगों को घर के अंदर रहने के लिए मजबूर होना पड़ा है. ऐलेना ने बताया, “फरवरी में हमने सुना था कि चीन में एक वायरस था, लेकिन 25 दिनों के बाद हमें कैरिबियन आईलैंड से हमें पूरी जानकारी मिली. हमें पता चला कि कोरोनावायरस का पूरी दुनिया पर भ’यानक असर पड़ा है” रयान ने कहा, ‘जब हम किनारे पर पहुंचे तो पता चला कि ये वायरस अभी तक खत्म नहीं हुआ है और पूरी दुनिया इसकी चपेट में आ गई है. कैरिबियाई द्वीप पर पहुंचने में नाकामयाब होने के बाद, दोनों ने अपने पोत को ग्रेनाडा में मोड़ दिया, जहां वे आखिरकार एक अच्छा इंटरनेट कनेक्शन प्राप्त करने में कामयाब रहे और जानकारी जुटाई कि दुनिया भर में क्या हो रहा है.”

ऐलेना ने कहा, “हमारा एक दोस्त पहले से ही सेंट विंसेंट में था, जहां हम जाने का सोच रहे थे. जानकारी मिलने के 10 घंटे बाद हमारा संपर्क उससे हुआ. उन्होंने बताया कि उनको कोई भी द्वीप प्रवेश नहीं देंगे क्योंकि वो इटली के रहने वाले हैं. लेकिन हम महीनों से इटली नहीं गये थे .” इत्तेफाक से ये लोग अपने जीपीएस इतिहास को ट्रैक कर रहे थे जिसके ज़रिये यह साबित कर पाए कि वे 25 दिनों से समुद्र में थे, जिसके बाद उन्हें प्रवेश करने की अनुमति दी गई. यह युगल अब सेंट विंसेंट में है, लेकिन उम्मीद कर रहे हैं कि जून में तूफान का मौसम शुरू होने से पहले उन्हें छोड़ दिया जाएगा. ऐलेना कहती हैं, “हम सेंट विंसेंट को अभी नहीं छोड़ना चाहते हैं. हम जून की शुरुआत में तूफान का मौसम शुरू होने से पहले बाहर निकलने के उद्देश्य से बैठे हैं.”