ट्विटर ने लिए अपने कर्मचारियों के लिए ये बड़ा फैसला

0
16

कोरोना वायरस के चलते दुनिया भर के कई देशों में लॉक’डाउन लागू है. कई लोकल से लेकर बहुराष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय कंपनिया तक अपने कर्मचारियों को घर से काम करने की सुविधा दे रही हैं. माना जा रहा है कि कोरोना वायरस के ख़त्म होने के बाद भी ऐसी कई कंपनियां, जो कर्मचारियों को ‘वर्क फ्रॉम होम’ देने में सक्षम हैं, वे अपने कर्मचारियों को आगे घर से ही काम करने के लिए प्रोत्साहित करेंगी. इस रास्ते पर सबसे पहला कदम बढाया है सोशल मीडिया के एक बड़े प्लेटफ़ॉर्म ‘ट्विटर’ ने. ट्विटर उन कंपनियों में से एक है, जिसने कोरोना वायरस आउटब्रेक शुरू होते ही अपने सभी कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम करने को कहा था.

रिपोर्ट के मुताबिक, अब कंपनी के सीईओ जैक डोर्सी ने अपने कर्मचारियों से कहा है कि वो जब तक चाहें तब तक घर से ही काम कर सकते हैं. एक रिपोर्ट के अनुसार, ट्विटर के प्रवक्ता ने कहा है, ‘अगर हमारे इंप्लॉइ ऐसे रोल और सिचुएशन में हैं जिसकी वजह से वो हमेशा घर से ही काम करना चाहते हैं तो हम ऐसा कर सकते हैं’. ट्विटर ने ये भी कहा है कि अगर इंप्लॉइ ऑफिस आ कर ही काम करना चाहते हैं तो उनके लिए ये ऑप्शन भी है. कर्मचारी एडिशन प्रिकॉशन के साथ वापस लौट सकते हैं. ट्विटर ने ये भी कहा है कि ऑफिस ओपन करना कंपनी का फैसला होगा, जबकि ये फैसला इंप्लॉइज पर ही छोड़ दिया जाएगा कि वो ऑफिस कब लौटना चाहते हैं.

कंपनी के मुताबिक कुछ अपवादों को छोड़ कर ऑफिस सितंबर से पहले नहीं खुलेंगे. ऑफिस खुलने के बाद भी स्थिति पहले जैसी नहीं रहेगी और लोगों को अब सतर्क रहना होगा. ट्विटर ने कहा है कि 2020 में कोई भी फिजिकल इवेंट आयोजित नहीं किया जाएगा. सितंबर तक कुछ अपवादों को छोड़ कर कंपनी ने अपने कर्मचारियों के इंटरनैशनल ट्रैवल पर भी बैन लगाया है. गौरतलब है कि ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी ने कोरोना वायरस से ल’ड़ने के लिए सबसे ज्यादा डोनेशन दिया है. उन्होंने अपने नेट वर्थ का लगभग 25% इस काम के लिए दान करने का ऐलान किया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें