कोरोना वायरस महामा’री के चलते लम्बे वक़्त से पूरा देश लॉक’डाउन है. लॉक’डाउन के साथ ही सभी धर्मों के तमाम छोटे-बड़े धार्मिक स्थल भी अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिए गये. अब लॉक’डाउन में मिलती ढील के बीच इन्हें दोबारा खोलने पर विचार हो रहा है. एक ओर लॉक’डाउन के लगातार पांचवी बार बढाए जाने के कयास लगाये जा रहे हैं, तो दूसरी ओर धार्मिक स्थलों को खोलने की मांग भी उठने लगी है.

इस बीच कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा है कि एक जून से मंदिरों के साथ मस्जिद और गिरजाघर भी श्रद्धालुओं के लिए खोले जा सकते हैं. राज्य सरकार को इस संबंध में केंद्र सरकार से अनुमति मिलने का इंतजार है. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में होटलों को दोबारा खोले जाने के संबंध में भी प्रधानमंत्री को पत्र लिखा गया है. उन्होंने कहा कि एक जून से मंदिर खोल दिए जाएंगे.

होटलों और अन्य स्थानों को खोलने के संबंध में हमें दिल्ली में प्रधानमंत्री से अनुमति लेनी होगी. इस संबंध में मैंने पत्र लिखा है. उम्मीद है कि हमें अनुमति मिल जाएगी. उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि जब हम कहते हैं कि मंदिर खोले जाएंगे तो गिरजाघर और मस्जिदें भी खुलनी चाहिए, उन पर भी कोई पाबंदी नहीं होगीं. उन्होंने कहा कि हमारे देश में का’नून सब के लिए समान है, लेकिन इन सब के लिए केंद्र सरकार की अनुमति की आवश्यकता है. हम इसकी प्रतीक्षा कर रहे हैं, हम इस दिशा में प्रयास कर रहे हैं.