जम्मू-कश्मीर के सोपोर में आज बुधवार सुबह ही एक एनका’उंटर हुआ. एन’काउंटर के दौरान सामने आई एक तस्वीर देखते ही देखते सुर्ख़ियों में आ गयी. दरअसल, एनका’उंटर के दौरान एक नागरिक को आतं’कियों ने गो’ली मा’र दी. इस शख्स के साथ मौजूद इसका तीन साल का नाती अपने नाना के श’व के पास बैठा रोता रहा. हालांकि, सुर’क्षाबलों ने बच्चे को सुरक्षित बचा लिया. अब बच्चे को बचाने का पूरा किस्सा सोपोर के एसएचओ अजीम खान ने बताया है. एसएचओ अजीम खान ने बताया, ‘जब हम वहां पहुंचे तो वहां काफी फाय’रिंग हो रही थी और एक छोटा बच्चा इर्द-गिर्द घूम रहा था. दूसरी साइड से फाय’रिंग हो रही थी. आपने देखा होगा कि एनका’उंटर साइट पर मस्जिद की ऊपरी मंजिल से फाय’रिंग हो रही थी. उसी तरफ से जो फा’यरिंग हुई, उसी में सारे लोग ज’ख्मी हुए हैं. हमारा सीआर’पीएफ का एक जवान घाय’ल हुआ था, जो बाद में शहीद हो गया.’

अजीम खान आगे कहते हैं, ‘बच्चे के लिए हमारा काम सबसे पहले यह था कि वह व्यू ब्लॉक किया जाए और बच्चे को वहां से उठाया जाए. हमारे पास जो सीआर’पीएफ और पु’लिस की बीपी गाड़ियां थीं, हमने उन्हें लगाकर पहले व्यू ब्लॉक किया. जिससे उस तरफ से फाय’रिंग ना आ पाए. बच्चे को उठाना हमारी प्राथमिकता थी और यह काफी चैलेंजिंग भी था. कोई आड़ नहीं थी, फिर भी हमने बच्चे को वहां से उठाकर बचाया. बच्चा अपने नाना के साथ हंदवाड़ा जा रहा था. उसके नाना किसी काम से जा रहे थे. हमारी सीआर’पीएफ की पार्टी तैनात ही हो रही थी कि उसी दिशा से फाय’रिंग हो गई.’ जानकारी के मुताबिक, एनका’उंटर शुरू होने से पहले ही आतं’कियों ने बच्चे के नाना को गो’ली मा’र दी. बच्चे को बचाकर सकुशल उसके घर पहुंचा दिया गया है. बता दें कि सोपोर में आतं’कियों ने आज सीआर’पीएफ के काफिले पर घा’त लगाकर हम’ला किया था. दोनों तरफ से गो’लीबा’री में सीआर’पीएफ का एक जवान शहीद हो गया जबकि आतं’कियों ने एक आम नागरिक की भी गो’ली मा’र कर ह’त्या कर दी.