मुरादाबाद से हंसी-ख़ुशी निकाह करके आ रहे दूल्हा-दुल्हन की कार अनियंत्रित होकर रजवाहे में समा गई. पीछे आ रहे ग्राम प्रधान ने हा’दसा देखते ही अपने साथियों के साथ मिलकर नवदंपति समेत पांच लोगों को सकुशल बचा लिया. मुरादाबाद से शादी करके आ रहे दूल्हा दुल्हन की कार रात करीब नौ बजे रेंच के पुल पर गति अधिक होने के कारण अनियंत्रित होकर रजवाहे में जा गिरी.

कार में दूल्हा-दुल्हन सहित पांच लोग थे, जो कार समेत पानी में डू’बने लगे. इस गाड़ी के पीछे जाकिर अली त्यागी और बड़ागांव के ग्राम प्रधान मो. तालिब अपने मित्र जीशान के साथ गाडी में थे. तालिब ने हा’दसा देख ही कार रोकी और वह स्वयं एवं साथियों के साथ रजवाहे में छलांग लगा दी. कुछ देर में ही सभी कार सवारों को शीशा तोड़कर सकुशल बाहर निकाल लिया गया. बचाव कार्य में शामिल रहे जाकिर अली त्यागी ने बताया कि गाडी के नहर में गिरने के बाद लोग तमाशबीन बने देख रहे थे लेकिन बचाव कार्य होने तक किसी ने भी पु’लिस या एम्बुलेंस को फोन नहीं किया. उन्होंने बताया कि बिना पु’लिस और एम्बुलेंस की मदद से दूल्हा दुल्हन व उनके साथ तीन लोगों को नहर से बाहर निकाल लिया.

गाँव प्रधान तालिब ने अपनी गाड़ी से सबको हॉस्पिटल भी पहुँचाया. उन्होंने बताया कि गाड़ी के ड्राइवर ने सीट बेल्ट लगा रखी थी जिसकी वजह से उन्हें निकालने में खासी मशक्क़त हुई और उनकी हालात मुँह में पानी भरने से गंभीर हो गई, जेवरात और गाडी में रखी क़ुरआन शरीफ़ भी दुल्हन को दे दी गयी. उन्होंने बताया कि यह भी ईश्वरीय कृपा रही कि अंदर से गाड़ी लॉक नही थी, वरना निकालने में वक़्त लग सकता था जिसमे ड्राइवर की जान जा सकती थी, गाड़ी में क़ुरआन शरीफ़ था इसलिए सभी महफूज़ है.