हाल ही में कानपुर में 8 पु’लिसवालों की ह’त्या करने वाला चर्चित हिस्ट्री’शीटर विकास दुबे एनका’उंटर में मा’रा गया है. खबर है कि विकास दुबे को ले जा रही एसटीएफ के काफिले की गाड़ी हा’दसे का शिकार हो गयी है. जानकारी के मुताबिक इसी गाड़ी में गैंग’स्टर विकास दुबे भी मौजूद था. घट’ना बर्रा थाना क्षेत्र के पास की है. इसमें कई पु’लिसवालों समेत विकास दुबे भी घा’यल हो गया था. बर्रा थाना क्षेत्र के पास की ये घ’टना है. दुर्घ’टना में कार पलट गई है. सूत्रों की मानें तो इसके बाद विकास दुबे ने भागने की कोशिश की और मुठ’भेड़ में मा’रा गया. हालांकि, इसकी अभी तक आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है.

बताया जा रहा है कि जिस गाडी में विकास दुबे सवार था, वही गाडी हाद’से का शिकार हुई है.गाड़ी पलटने के बाद घा’यल एसटीएफ के पु’लिसकर्मियों की पि’स्टल छीन कर विकास दुबे ने भागने की कोशिश की. इस दौरान साथ में वाहन चल रहे थे, उसमें पु’लिस टीम ने विकास दुबे पर जवाबी फाय’रिंग की.सूत्रों के मुताबिक, काफिले के पीछे कुछ गाड़ियां लगी थी जो पु’लिस के काफिले को फॉलो कर रही थीं जिसकी वजह से गाड़ी तेज़ भगाने की कोशिश की गई और एक्सी’डेंट हुआ.

विकास दुबे के एनका’उंटर के बाद कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि जिसका शक था वह हो गया. विकास दुबे का किन किन राजनैतिक लोगों से, पु’लिस व अन्य शासकीय अधिकारियों से उसका संपर्क था, अब उजागर नहीं हो पाएगा. पिछले 3-4 दिनों में विकास दुबे के 2 अन्य साथियों का भी एनका’उंटर हुआ है, लेकिन तीनों एनका’उंटर का पैटर्न एक समान क्यों है? इधर, उसके ढेर होने की खबर सुनकर उसके गांव वाले बेहद खुश हैं. ग्रामीणों ने कहा कि एक आ’तंकी चला गया. लोगों का कहना है कि विकास दुबे का 25 साल से एक ही काम था दूसरों की जमीनों पर क’ब्‍जा करना और किसी को भी उठा लेना.