एचसीएल टेक के चेयरपर्सन की कुर्सी संभालते ही रोशनी नाडर मलहोत्रा भारत की सबसे अमीर महिला बन गई हैं. नोएडा की आईटी कंपनी एचसीएल टेक्नालॉजीज ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. महज 38 साल की रोशनी के कंधों पर अपने पिता शिव नाडर की कंपनी को अब आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी है. कंपनी ने बताया कि शिव नाडर अध्यक्ष पद की भूमिका से हट गए हैं और अब उनकी बेटी रोशनी नाडर मल्होत्रा तत्काल प्रभाव से उनकी जगह गैर-कार्यकारी निदेशक होंगी. कंपनी ने बताया कि निदेशक मंडल ने शिव नाडर के स्थान पर उनकी बेटी और कंपनी की गैर-कार्यकारी निदेशक रोशनी नाडर मल्होत्रा को बोर्ड़ और कंपनी का अध्यक्ष नियुक्त करने का फैसला किया है. उनकी नियुक्ति शुक्रवार से प्रभावी है.

शिव नाडर ने पद से हटने की इच्छा व्यक्त की थी और वह मुख्य रणनीति अधिकारी के पदनाम के साथ कंपनी के एमडी बने रहेंगे. दिल्ली में पली बढ़ीं रोशनी नाडर मल्होत्रा को 2013 में भारत के तीसरे सबसे बड़े सॉफ्टवेयर निर्यातक कंपनी एचसीएल टेक के बोर्ड में एक अतिरिक्त निदेशक के रूप में शामिल किया गया था. एचसीएल टेक्नोलॉजीज और एचसीएल इंफोसिस्टम्स की होल्डिंग कंपनी एचसीएल कॉर्प के बोर्ड में उनकी नियुक्ति के चार साल बाद ऐसा हुआ था. वन्यजीव और संरक्षण के प्रति रूचि रखने वाली रोशनी ने 2018 में हैबिट्स ट्रस्ट की स्थापना की. ट्रस्ट का उद्देश्य देश के प्राकृतिक आवासों और स्वदेशी प्रजातियों की रक्षा करना है, जिसमें स्थायी पारिस्थितिकी तंत्र बनाने और संरक्षण का मुख्य मिशन है.

रोशनी ने केलॉग स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, यूएसए से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स डिग्री ली है. वह वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के फोरम ऑफ़ यंग ग्लोबल लीडर्स की अलुम्नस हैं. रोशनी को 2017 से 2019 के बीच फोर्ब्स ने “द वर्ल्ड्स 100 मोस्ट पावरफुल वूमेन” की लिस्ट में जगह दी थी. आईआईएफएल वेल्थ हुरुन इंडिया के अनुसार, रोशन नाडर मल्होत्रा 2019 में देश की सबसे अमीर महिला थीं, जिनकी कुल कमाई 31,400 करोड़ रुपये थी.